scorecardresearch

क्या मानेंगे मेरे पास राजभवन में है पेगासस इक्विपमेंट?- सीएम ममता पर जासूसी के आरोपों को लेकर जब राज्यपाल उठाने लगे सवाल, हंसने लगे शशि थरूर

पश्चिम बंगाल के हालात पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि राज्य में चुनावी हिंसा की बात से कोई मना नहीं कर सकता। धनखड़ ने कहा कि ममता बनर्जी मेरी छोटी बहन जैसी हैं और 30 साल पहले उन्हें चोट लगने पर मैं उनसे मिलने भी गया था।

West Bengal Governor Jagdeep Dhankhar
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ( सोर्स-इंडियन एक्सप्रेस/फाइल)

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी द्वारा पेगासस जासूसी मामले में लगाए आरोपो पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पश्चिम बंगाल सरकार पर जमकर हमला बोला है। एक टीवी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे जगदीप धनखड़ ने ममता के राजभवन द्वारा जासूसी किये जाने के आरोपों पर हैरानी जताई। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद कांग्रेसी नेता शशि थरूर से पूछा कि क्या आप इस बात को मानेंगे कि राजभवन में पेगासस इक्विपमेंट है?

दरअसल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि पेगासस स्पाइवेयर के जरिए उनके फोन पर निगरानी रखी जा रही है। उन्होंने इसको लेकर राज्यपाल और केंद्र पर निशाना साधा था। ऐसे में एबीपी आइडियाज ऑफ इंडिया समिट 2022 के दूसरे दिन पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बात करते हुए शशि थरूर से पूछा कि क्या इस बात पर यकीन करेंगे कि राजभवन में पेगासस इक्विपमेंट है?

बता दें कि धनखड़ के इस सवाल पर कांग्रेसी नेता शशि थरूर हंसते देखे गये। वहीं जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, “भारतीय संविधान की प्रस्तावना में हम सबको यकीन रखना चाहिए। मैं पिछले ढाई साल से पश्चिम बंगाल के गवर्नर के रूप में पीड़ित हूं।” उन्होंने कहा कि भारत जिस तरह से अंदर और बाहर से चुनौतियों का सामना कर रहा है, वैसा दुनिया का कोई भी देश नहीं झेल रहा है।

वहीं बंगाल चुनावी हिंसा की खबरों पर जगदीप धनखड़ ने कहा कि चुनावी हिंसा की बात से कोई मना नहीं कर सकता। धनखड़ ने कहा कि ममता बनर्जी मेरी छोटी बहन जैसी हैं और 30 साल पहले उन्हें चोट लगने पर मैं उनसे मिलने भी गया था। हालांकि कई बार स्थितियां ऐसी बनती हैं कि छोटी बहन को भी आइना दिखाना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान जो कुछ हुआ, वो किसी से छुपा नहीं है। वहां मीडिया अपना काम नहीं कर पा रहा है। किसी में हिम्मत नहीं कि ममता बनर्जी से सवाल कर सके। मैं मीडिया से हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि वो जमीनी सच को रिपोर्ट करें।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.