ताज़ा खबर
 

जिस ‘भिखारी वाले वीडियो’ का मोदी ने किया था जिक्र उसे बनाने वाली महिला मिली,खोले कई छिपे राज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुरादाबाद की अपनी रैली में जिस भिखारी वाले वीडियो का जिक्र किया था उसे बनाने वाली महिला मिल गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुरादाबाद वाली रैली में भिखारी वाले वीडियो का जिक्र किया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुरादाबाद की अपनी रैली में जिस भिखारी वाले वीडियो का जिक्र किया था उसे बनाने वाली महिला मिल गई है। वह वीडियो कुलप्रीत कौर ने बनाया था। पीएम मोदी द्वारा अपने वीडियो का जिक्र होने पर कुलप्रीत काफी खुश हैं। कुलप्रीत ने बताया कि वीडियो उन्होंने 2014 की जनवरी में बनाया था। वीडियो के बारे में बात करते हुए कुलप्रीत ने कहा, ‘मैंने और मेरे दोस्त ने उस पूरे सीन को लिखा और शूट किया था। मैंने देखा था कि भिखारी को भीख देने के लिए लोग ट्रैफिक सिग्नल पर खुल्ले पैसों के झंझट से जूझते हैं। कई बार खुल्ले पैसों के चक्कर में जाम लग जाता था। कई बार लोग खुल्ले ना होने पर भिखारी या जरूरतमंद को पैसे दिए बिना ही आगे बढ़ जाते थे। उस सबको सोचकर ही हमने ऐसी फिल्म बनाने के बारे में सोचा।’

भिखारी के बारे में बताते हुए कुलप्रीत ने कहा कि वह असली भीख मांगने वाला था जो कि उन्हें एक मंदिर के बाहर बैठा हुआ मिला था। वह मंदिर हैदराबाद के बंजारा हिल्स वाले रोड नंबर 12 पर है। कुलप्रीत ने आगे बताया कि उन्होंने बहुत सारे भीख मांगने वालों में से उसे ऐसे ही चुन लिया था। लेकिन उन्हें उसका नाम नहीं पता। कुलप्रीत ने बताया कि उन्होंने उस भीख मांगने वाले से कहा था कि उसे उनके लिए एक्टिंग करनी है। कुलप्रीत अपने एक दोस्त से उस पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) मशीन को लेकर आई थीं जो भिखारी के पास दिखाया गया था।

कुलप्रीत ने बताया कि वह पीएम मोदी द्वारा उनके वीडियो का जिक्र करने पर खुश हैं। कुलप्रीत ने बताया कि पहले माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला ने भी उनका वीडियो शेयर किया था। कुलप्रीत ने आगे बताया कि पीएम द्वारा उनके वीडियो का जिक्र करने के बाद से लोग लगातार फोन कर रहे हैं और उस वीडियो के बारे में पूछते हैं।

देखिए वह वीडियो जिसका पीएम ने जिक्र किया था –

इस वक्त की बाकी ताजा खबरें पढ़ने के क्लिक करें

वीडियो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को श्रद्धांजलि

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App