ताज़ा खबर
 

मंदिर में भीख मांग-मांगकर कर इकट्ठा किए नोट, भगवान राम को दान किया चांदी का मुकुट, देंखे VIDEO

अपनी जिंदगी चलाने के लिए उन्होंने कई तरह के काम किए। करीब 45 साल तक उन्होंने रिक्शा चलाया। लेकिन उम्र ज्यादा होने के कारण पिछले कुछ सालों से उन्होंने शहर की सड़कों पर भीख मांगनी शुरु की। उन्हें ऐसा हुआ कि उन्हें जिंदगी जीने के जितने की आवश्यकता है वो उससे ज्यादा कमाते हैं।

Author विजयवाड़ा। | December 28, 2016 1:58 PM
भिखारी ने भगवान राम को चढ़ाया चांदी का मुकुट। (Photo Source: Videograb)

आपने भिखारी को अपने जीवन यापन के लिए हमेशा दूसरों के आगे हाथ फैलाते हुए देखा है। क्या आपने कभी सुना है किसी भिखारी ने भगवान को दान दिया हो। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में एक भिखारी ने भगवान राम को चांदी का मुकुट भेंट किया। ऐसे समय में जब नोटबंदी के बाद लोगों के सामने कैश की किल्लत है, उस दौरान भिखारी द्वारा भगवान को दान दिए जाने की बात से लोग हैरान है। 75 साल के याडी रेड्डी तेलंगाना के नालगोंडा जिले के रहने वाले हैं वो जवानी के समय ही विजयवाड़ा आ गए थे।

अपनी जिंदगी चलाने के लिए उन्होंने कई तरह के काम किए। करीब 45 साल तक उन्होंने रिक्शा चलाया। लेकिन उम्र ज्यादा होने के कारण पिछले कुछ सालों से उन्होंने शहर की सड़कों पर भीख मांगनी शुरु की। उन्हें ऐसा हुआ कि उन्हें जिंदगी जीने के जितने की आवश्यकता है वो उससे ज्यादा कमाते हैं। इसके बाद उन्होंने फैसला किया कि अपनी अतिरिक्त आय को वो धार्मिक कार्यों में खर्च करेंगे। रेड्डी ने कहा कि उनका भगवान में बहुत विश्वास है और भगवान ने मुझे जो ताकत और सहास दिया है उसी के कारण मैं सही सलामत हूं।

मंदिर के चेयरमैन और विधायक गौथम रेड्डी ने कहा कि वह काफी समय से मंदिर प्रांगण में भीख मांग रहे थे और अब भगवान को कुछ देकर उन्होंने बहुत अच्छी मिसाल पेश की है। वह बहुत से लोगों के लिए प्रेरणादायी साबित होंगे। उन्होंने लोगों को संदेश दिया है कि पैसे सिर्फ भौतिकवादी है और अच्छे काम के लिए उसकी कोई कीमत नहीं है। याडीरेड्डी ने हाल ही में साई बाबा को भी चांदी का मुकुट भेंट किया था। जिसके बाद अब उन्होंने भगवान राम को मुकुट चढ़ाने का फैसला किया। वह मुकुटों पर करीब डेढ लाख से ज्यादा पैसे खर्च कर चुके हैं। यही नहीं उन्होंने नित्य आनंदम के लिए 20 हजार रुपए भी दान किए हैं।

देंखे वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App