ताज़ा खबर
 

कहां मर गई इंसानियत: गौमांस की अफवाह उड़ी तो भीड़ ने ले ली अखलाक की जान

दादरी के बिसरा गांव के कुछ लोगों ने सोमवार रात कथित तौर पर 50 साल के मोहम्मद अखलाक को पीट पीट कर मार डाला। वजह यह बताई जा रही है कि गांव में ऐसी अफवाह उड़ी थी कि अखलाक का परिवार अपने घर में गौ मांस रखता और खाता है। पुलिस ने बताया कि मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Author दादरी (उत्तर प्रदेश) | September 30, 2015 9:21 AM
beef ban, man beaten to death, beef ban death, mohammad akhlaq, dadri man beaten to death, dadri beef ban death, bisara beef ban death village, beef, lucknow news, dadri news, बीफ बैन, गौमांस, मोहम्मद अखलाक, लखनऊबिसरा गांव में सोमवार को अखलाक के शोकाकुल परिजन। (फोटो: गजेंद्र यादव)

दादरी के बिसरा गांव के कुछ लोगों ने सोमवार रात कथित तौर पर 50 साल के मोहम्मद अखलाक को पीट पीट कर मार डाला। वजह यह बताई जा रही है कि गांव में ऐसी अफवाह उड़ी थी कि अखलाक का परिवार अपने घर में गौ मांस रखता और खाता है।
पुलिस ने बताया कि मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक बताया जा रहा है कि सोमवार शाम को बिसरा गांव के मंदिर से अखलाक के परिवार के गौमांस खाने को लेकर अफवाह फैली। इसके बाद रात दस बजे अखलाक के घर पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। हमले में घायल हुए अखलाक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, वहीं उनके बेटे दानिश को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डाक्टरों ने उसकी हालत नाजुक बताई है।

पुलिस ने बताया कि दिल्ली से करीब 45 किलोमीटर दूर हुई इस घटना के बाद लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। गुस्साए लोगों को काबू करने के लिए पुलिसकर्मियों को गोली चलानी पड़ी, जिससे बीस साल का एक युवक जख्मी हो गया। गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी एनपी सिंह ने कहा कि इलाके में पुलिस को तैनात कर दिया गया है और फिलहाल हालात काबू में हैं। उन्होंने कहा कि कुछ स्थानीय लोगों ने अफवाह फैला दी कि अखलाक ने अपने घर में गौमांस रखा हुआ है और वह गौ वध भी करता है। इन अफवाहों के बाद इलाके में तनाव फैल गया और कुछ लोगों ने अखलाक के घर पर हमला कर दिया।

मंदिर के पास ही दुकान चलाने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में मंदिर का पुजारी और उसका सहायक भी है। लेकिन पुलिस ने इससे इनकार करते हुए कहा कि गिरफ्तार लोगों की पहचान करनी अभी बाकी है। अखलाक की 18 साल की बेटी सैजा ने बताया कि रात दस बजे के करीब, गांव के सौ से भी ज्यादा लोग उनके घर पहुंच गए। उसने कहा, ‘उन लोगों ने हम पर गौ मांस रखने का आरोप लगाया, घर के दरवाजे तोड़ दिए और मेरे अब्बा व भाई को पीटने लगे। वे मेरे अब्बा को घसीट कर घर से बाहर ले गए और ईंटों से मारा। बाद में हमें पता चला कि मंदिर में घोषणा हुई थी जिसमें हम पर गौ मांस खाने का आरोप लगाया गया।’

गौतम बुद्ध नगर के एसएसपी किरण एस ने भी कहा कि शुरुआती जांच से पता चला है कि अखलाक के परिवार के गौ मांस खाने को लेकर मंदिर से घोषणा हुई थी। पुलिस अधिकारी ने कहा कि दस लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है जबकि छह को गिरफ्तार किया गया है। इनके नाम, रूपेंद्र, विवेक, श्री ओम, संदीप, सौरव और गौरव हैं। ये सभी बिसरा गांव के रहने वाले हैं। किरण एस ने कहा, हमें बताया गया है कि कुछ लोग लाउडस्पीकर लेकर मंदिर में घुसे और एलान किया। लेकिन फिलहाल जांच जारी है और अभी हम यह नहीं कह सकते कि अभियुक्तों में से कोई व्यक्ति मंदिर से जुड़ा हुआ है या नहीं।

अदिति वत्स

Next Stories
1 जब Google CEO सुंदर पिचाई के 73 साल के ससुर ने रचाई दूसरी शादी, दंग रह गए लोग
2 गुड़गांव: 2 पुलिस अफसरों की रेप केस को लेकर जंग, जांच का आदेश
3 ‘मोदी चाहे तो भागवत को भारत रत्न दे, लेकिन मैं दलितों-गरीबों के लिए चुप नहीं बैठूंगा’
कोरोना:
X