झारखंडः नमाज रूम पर असेंबली में बवाल से आहत स्पीकर बोले- मुझे पीट लो पर कामकाज तो चलने दो

स्पीकर के कहने के बाद भी सदन में भाजपा विधायक थमे नहीं बल्कि भाजपा विधायकों ने सदन के वेल में बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

JHARKHAND, JHARKHAND ASSEMBLY, SPEAKER RABINDRA NATH, BJP MLA,
झारखंड असेंबली में बीजेपी विधायकों ने काटा बवालः (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

नमाज रूम के मुद्दे पर झारखंड असेंबली में मंगलवार को जय श्री राम और हनुमान चालिसा का पाठ करते हुए बीजेपी के विधायक स्पीकर रबिंदर नाथ महतो के आसन के समीप पहुंच गए। उन्होंने सदन की कार्यवाही में व्यवधान उत्पन्न किया। महतो इतने ज्य़ादा आहत हो गए कि यहां तक कह दिया कि मुझे पीट लो पर कामकाज तो चलने दो। बीजेपी विधायक भगवा कपड़े पहने थे।

सदन की कार्यवाही आरंभ होते ही भाजपा विधायकों ने नमाज के लिए कमरा आवंटित करने और राज्य की रोजगार नीति के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस बीच विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने हंगामा कर रहे सदस्यों से सदन की कार्यवाही चलते रहने देने का अनुरोध करते रहे। विधायक प्रश्नकाल के दौरान नारे लगाते रहे जिसके कारण दोपहर 12:30 बजे तक के लिए कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी।

स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने विधानसभा की कार्यवाही को चलाने के लिए हरसंभव प्रयास किए. लेकिन उनका प्रयास असफल साबित हुआ। सदन में विपक्षी विधायकों के व्यवहार से महतो आहत नजर आए। इस दौरान उन्होंने विपक्षी विधायकों से सदन को फुटपाथ ना बनाने की बात कही। हालांकि स्पीकर के कहने के बाद भी सदन में भाजपा विधायक थमे नहीं बल्कि भाजपा विधायकों ने सदन के वेल में बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

नमाज रूम के मुद्दे पर अब बीजेपी के साथ ही हिंदू संगठनों के तेवर भी तल्ख हो चुके हैं। विश्व हिंदू परिषद और हिंदू महासभा का कहना है कि हेमंत सोरेन की सरकार मुस्लिम तुष्टीकरण के लिए संविधान की मर्यादा का उल्लंघन कर रही है। उन्होंने झारखंड सरकार पर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि इस को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र शुरू हुआ है। लेकिन नमाज रूम पर फैसले के बाद विवाद शुरू हो गया। स्पीकर रविंद्र नाथ महतो ने कहा कि शुक्रवार के दिन नमाजी नमाज अदा करते हैं। उसके लिए एक जगह की जरूरत होती है, इसलिए उन लोगों के लिए स्थान दिया है। ये कोई मैंने नहीं दिया है। पुरानी असेंबली में भी इसके लिए एक विशेष स्थान आवंटित था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट