ताज़ा खबर
 

BCCI प्रमुख अनुराग ठाकुर बोले-आतंक को बढ़ावा देने वाले पाकिस्तान के साथ खेलने का सवाल ही नहीं

उरी आतंकी हमले में 18 जवानों के शहीद होने के बाद भारत में पाकिस्तान के खिलाफ काफी रोष है।
Author कोझिकोड | September 23, 2016 20:06 pm
बीसीसीआई प्रमुख अनुराग ठाकुर। (File Photo)

बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने भविष्य में पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट संबंधों की बहाली की संभावना से पूरी तरह से इनकार किया और कहा कि इस बारे में सोचना भी सही नहीं है। भाजपा राष्ट्रीय परिषद की बैठक के लिए यहां पहुंचे ठाकुर ने कहा कि भारत किसी भी समय पाकिस्तान को तबाह कर सकता है लेकिन उसे विश्वस्तर पर अलग थलग करना अधिक महत्वपूर्ण है। ठाकुर भाजपा सांसद और युवा विभाग के अध्यक्ष भी हैं। ठाकुर से जब पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने की किसी योजना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने उरी में आतंकी हमले के संदर्भ में कहा, ‘जो कुछ हुआ उसे देखते हुए इस बारे में सोचना भी सही नहीं है।’

उन्होंने इसके साथ ही जोड़ा कि पाकिस्तान के खिलाफ इस साल श्रृंखला का कोई कार्यक्रम नहीं है। उरी आतंकी हमले के बाद भारत के पाकिस्तान के साथ संबंधों में गिरावट आयी है और इस पड़ोसी देश के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की मांग की जा रही है। प्रादेशिक सेना के भी अधिकारी ठाकुर ने कहा, ‘भारत ने पाकिस्तान को 1965, 1971 और कारगिल युद्ध में हराया था। भारत ने विश्व कप क्रिकेट के भी सभी मैचों में पाकिस्तान को हराया। वह किसी भी पाकिस्तान को तबाह कर सकता है लेकिन उसे विश्व स्तर पर अलग थलग करना अधिक महत्वपूर्ण है।’

Read Also: अपने खून से PM मोदी को खत लिखकर की मांग-खून का बदला खून, नवाज को लाओ होश में

इस भाषण के बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तुलना हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर से की। माधव ने कहा, ‘नवाज शरीफ वहां पाकिस्तान के सुप्रीम कमांडर की तरह नहीं, बल्कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन के सुप्रीम कमांडर की तरह बोल रहे थे। यह देखना शर्मनाक है कि नवाज शरीफ संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकवादी घोषित संगठन का झंडा बुलंद कर रहे थे।’ साथ ही उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह के शब्दों को दोहराते हुए पाकिस्तान को एक आतंकी देश घोषित किए जाने की मांग भी की।

Read Also: ईनम गंभीर, जिन्होंने यूएन में नवाज शरीफ को दिया करारा जवाब

गौरतलब है कि उत्तरी कश्मीर के उरी शहर में 18 सितंबर की सुबह भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने एक बटालियन मुख्यालय पर हमला कर दिया था, जिसमें 18 जवान शहीद हो गए थे। यह हमला हाल के वर्षों में सेना पर किए गए सबसे घातक हमलों में से एक था। हमले में शामिल चार आतंकियों को सेना ने मार गिराया था।

Read Also: उरी आतंकी हमला: नवाज़ शरीफ़ बोले- पाकिस्तान पर आरोप लगाना ‘भारत की पुरानी आदत’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.