ताज़ा खबर
 

कांग्रेस धर्म को दे अपनी राजनीति में जगह, अपनाए महात्मा गांधी का राष्ट्रवाद: मार्क टली

मार्क टली ने कहा कि कांग्रेस जब धर्मनिरपेक्षता की बात करती है तो उससे ऐसा प्रतीत होता है कि वो "धर्म-विरोधी" है जबकि "ज्यादातर भारतीय धार्मिक हैं।"
Author September 25, 2017 13:42 pm
एक्सप्रेस अड्डा में मार्क टली से बात करती सीमा चिश्ती। (एक्सप्रेस फोटो- प्रवीण कुमार)

वरिष्ठ पत्रकार मार्क टली के अनुसार कांग्रेस को अपनी खोई हुई राजनीतिक जमीन वापस पाने के लिए महात्मा गांधी की तरह धर्म और राजनीति को जोड़ना होगा। टली शनिवार (23 सितंबर) को इंडियन एक्सप्रेस के कार्यक्रम एक्सप्रेस अड्डा में एक सवाल का जवाब दे रहे थे। टली ने कहा कि कांग्रेसी नेताओं को अपनी विचारधारा को फिर से मांजना होगा। टली ने कहा, “कांग्रेस को धर्म के लिए जगह बनानी होगी।” टली ने कहा कि कांग्रेस जब धर्मनिरपेक्षता की बात करती है तो उससे ऐसा प्रतीत होता है कि वो “धर्म-विरोधी” है जबकि “ज्यादातर भारतीय धार्मिक हैं।” टली के अनुसार कांग्रेस को “बहुलतावादी धार्मिकता में लिपटे हुए राष्ट्रवाद” को अपनाना चाहिए। टली ने कहा कि “कांग्रेस और उसके आज के समर्थकों को लगता है कि अगर आप हिंदू धर्म या धर्म के बारे में कुछ बोल रहे हैं तो आप आरएसएस के हैं।” मार्क टली करीब चार दशकों से ज्यादा समय तक ब्रिटिश ब्रॉडकॉस्टिंग कॉर्पोरेशन (बीबीसी) के दक्षिण एशिया संवाददाता और ब्यूरो प्रमुख रहे हैं।

टली ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि मीडिया से संवाद न करना अपने दायित्व से भागना है और आज के समय में “मीडिया पर नियंत्रण करने की कोशिश करना एक बड़ी भूल है। टली ने कहा कि भरोसेमंद समाचार संस्थाओं के न होने से ही अफवाह और फर्जी खबर फैलती है। मार्क टली ने कार्यक्रम में अयोध्या में 30 अक्टूबर 1990 को कारसेवकों पर मुलायम सिंह सरकार के दौरान गोली चलायी जाने की घटना का जिक्र किया। टली ने बताया कि एक अखबार ने बीबीसी के हवाले से खबर चला दी कि गोलीबारी में करीब 100 लोग मारे गये। उस झूठी खबर से तनाव बढ़ गया। उस समय केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस ने टली को फोन किया और पूछा “तुम क्या कर रहे हो?” तब टली ने उन्हें बताया कि बीबीसी ने ऐसी कोई खबर नहीं दी है। टली ने बताया कि वो भी जाली खबर के शिकार हो चुके हैं जब उनके नाम से सोनिया गांधी और नरेंद्र मोदी से जुड़ी जाली खबर चला दी गयी थी।

पिछले पांच-छह दशकों में भारत और पाकिस्तान के कई महत्वपूर्ण राजनेताओं को करीब से देखने वाले टली से पूछा गया कि उन्हें प्रिय भारतीय राजनेता कौन है? इस पर टली ने कहा कि वो देवी लाल और चौधरी चरण सिंह के बड़े प्रशंसक रहे हैं। टली के अनुसार ये दोनों ही नेता जमीनी नेता थे और आम लोगों से जुड़े हुए थे। टली ने जनता पार्टी सरकार के विफल हो जाने पर अफसोस जताया। टली के अनुसार समाजवादी आंदोलन अब जातिवादी आंदोलन में बदल चुका है। इंडियन एक्सप्रेस की डिप्टी एडिटर सीमा चिश्ती से बात करते हुए मार्ट टली ने एक्सप्रेस अड्डा में कोलकाता और दार्जिलिंग में बिताए बचपन की भी यादें ताजा कीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Shashi Kumar
    Sep 25, 2017 at 7:46 pm
    कौन सा धर्म, आप तो मुस्लिमों की औलाद और सोनिआ का विदेशी धर्म , और उसी के प्रचार में लगी हैं. भारत का धर्म हिन्दू सनातनी, गांधी के चरणों के सामान भी नहीं हो सकते ये लोग.
    (0)(0)
    Reply