ताज़ा खबर
 

J&K में सब कुछ ठीक नहीं! BBC का दावा- जुमे की नमाज के बाद हिंसक प्रदर्शन, पेलेट गन से घायल हुए लोग

प्रशासन का दावा है कि राज्य में स्थिति शांतिपूर्ण है और प्रदेश में किसी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं है। पुलिस प्रशासन और सेना के जवान घाटी में हालात सामान्य करने की कोशिश में जुटे हैं।

बीबीसी ने शुक्रवार (23 अगस्त, 2019) रात करीब आठ बजे अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया। (फोटो सोर्स वीडियो स्क्रीन शॉट)

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान निरस्त होने के बाद प्रशासन का दावा है कि राज्य में स्थिति शांतिपूर्ण है और प्रदेश में किसी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं है। पुलिस प्रशासन और सेना के जवान घाटी में हालात सामान्य करने की कोशिश में जुटे हैं। हालांकि हिंदी न्यूज वेबसाइट बीबी हिंदी ने इस दावे के उलट एक ऑडियो-वीडियो शेयर किया है। जिसमें कहा गया कि जम्मू-कश्मीर में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। यहां हालात सामान्य नहीं हैं।

बीबीसी ने शुक्रवार (23 अगस्त, 2019) रात करीब आठ बजे अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ऑडियो-वीडियो शेयर किया। कहा गया कि जुम्मे की नमाज के बाद सौरा में कश्मीरियों का एक विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया। बीबीसी के पत्रकार आमिर पीरजादा ने घटना का आंखों देखा हाल बताते हुए कहा कि वो शुक्रवार को सौरा करीब एक बजे पहुंचे, जहां लोग नमाज पड़ने के लिए इकट्ठा हो रहे थे। यहां ऐसी जगह है जहां महिला और पुरुष दोनों अलग-अलग ब्लॉक में नमाज पढ़ सकते हैं।

पत्रकार के मुताबिक, ‘नमाज के बाद पहले वहां कश्मीर की आजादी के समर्थन में नारे लगे और लोगों ने शांतिपूर्वक प्रदर्शन शुरू कर दिया।’ उन्होंने कहा सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान जब सुरक्षाकर्मी एक गली से प्रदर्शनकारियों के करीब पहुंचने की कोशिश करने लगे तब भीड़ भी पुलिस की तरफ भागने लगी। पीरजादा के मुताबिक यहां की गलियों में रह रहे लोगों के बीच आपसी सिगनल है। मतलब जब पुलिस और लोगों का आमना-सामना होता है तो सिगनल दिया जाता है और घरों में रह रहे लोग बाहर निकल आते हैं और उस संघर्ष में हिस्सा लेते हैं। शुक्रवार भी ऐसा ही कुछा हुआ।

आमिर पीरजादा के बताया कि इस सिगनल के बाद पुलिस और सीआरपीएफ के साथ लोगों का संघर्ष शुरू हो गया, प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की। इस दौरान पीछे ‘तीन’ की आवाजें आईं और लोग अपने घरों से बाहर निकले और उस संघर्ष में हिस्सा लेने लगे। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के ऊपर आंसू गोले छोड़े तो प्रदर्शनकारियों ने ईंट और पत्थर फेंके।

पीरजादा के अनुसार, ‘इस दौरान पैलेट गन का भी इस्तेमाल किया गया। मैंने अपनी आंखों से देखा कि एक के आंख से खून निकल रहा था दूसरे के गर्दन से खून निकल रहा था। यह संघर्ष बहुत ही हिंसक था और यह करीब शाम चार बजे तक चला। हालांकि अभी तक हमें पक्के तौर पर घायलों के बारे में जानकारी नहीं है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 INDIAN RAILWAYS IRCTC: अब ऑनलाइन टिकट बुकिंग होगी महंगी, 1 सितंबर से दोबारा वसूला जाएगा ये चार्ज
2 मर्डर के केस में जेल में बिताए 21 साल, हाई कोर्ट ने बताया ‘बेगुनाह’, दिए रिहा करने का आदेश
3 Economic Slowdown: पीएम नरेंद्र मोदी की आर्थिक सलाहकार टीम से नाराज है बीजेपी! टि्वटर पर साधा निशाना