ताज़ा खबर
 

मार्ग अवरुद्ध करने के लिए पुलिस ने लिए मालवाहक चालकों के ट्रक, सड़क पर खड़े ट्रकों पर उतरा किसानों का गुस्सा

गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली को लेकर दिल्ली पुलिस ने एहतियातन नोएडा और गाजियाबाद से लगे सभी सीमाओं को बंद कर दिया था।

Author नई दिल्‍ली | Updated: January 27, 2021 8:45 AM
Roadसड़क अवरुद्ध करने पर किसानों ने जताई नाराजगी। फाइल फोटो

निर्भय कुमार पांडेय

इन मार्गों से सोमवार रात में मालवाहक ट्रकों और टेम्पो को पुलिस ने आगे जाने नहीं दिया, उनकी रात सीमा पर गुजरी। मंगलवार सुबह जब किसानों की ट्रैक्टर परेड इन मार्गों से गुजरी तो पुलिस ने ट्रकों को सड़क पर खड़ा करवा दिया। इससे नाराज किसानों का गुस्सा उन माल वाहक ट्रकों पर उतरा। ट्रकों और टेम्पों के शीशे तोड़ दिए गए और काफी नुकसान किया गया।

नोएडा लिंक रोड पर जगह-जगह पर बैरिकेड लगा दिए गए थे और बड़ी संख्या में दिल्ली पुलिस, अर्द्धसैनिक बल, नागरिक सुरक्षा संगठन के स्वयंसेवक को पूरे क्षेत्र में जगह-जगह पर तैनात किया गया था। पहले से तय रूट पर न जाकर सुबह होते ही किसान अक्षरधाम फ्लाईओवर के पास गाजीपुर की ओर से आने लगे। देखते ही देखते किसान उग्र हो गए। कुछ किसानों ने ट्रैक्टर की मदद से बैरकेड हटाने शुरू कर दिए तो कुछ किसानों ने उन माल वाहन वाहनों को निशाना बनाना शुरू कर दिया, जो मार्ग को बंद करने के लिए दिल्ली पुलिस ने सड़क पर खड़े किए थे।

इस दौरान किसानों ने ट्रॉला, टैम्पो और ट्रक को निशाना बनाया। क्षतिग्रस्त वाहन के चालक अमित ने बताया कि वह सोमवार शाम को सराय काले खां की ओर जा रहा था, तभी मार्ग बंद कर ही पुलिस टीम ने उसे रोका और वाहन को सड़क किनारे खड़ा करने का कहा। बाद में उसे बताया गया कि रात भर के लिए वह यहीं वाहन खड़ा कर दे। सुबह मार्ग खुलने के बाद भेज दिया जाएगा। अमित ने बताया कि सुबह जब किसान पहुंचे तो वाहनों को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया। उसके टैम्पो का आगे का शीशा तोड़ डाला। ट्राला चालक अजय कुमार ने बताया कि वह दिल्ली से आ रहे थे और नोएडा स्थित दादरी जाना था।

पुलिस अधिकारियों ने वाहन की चाभी और कागजात ले लिया और कहा कि मंगलवार को दे दिया जाएगा। पर किसानों ने उनके ट्रॉला को भी नुकसान पहुंचाया। चालक श्रवण कुमार ने कहा कि वह अपने घर लौट रहे थे, लेकिन मार्ग बंद करने के लिए उसे भी पुलिसवालों ने रोक लिया था। किसानों ने वाहन के शीशे तोड़ डाले। उन्होंने कहा कि यह सब कुछ उनके आंखों के सामने हुआ। पर वह कुछ नहीं कर पाए।

Next Stories
1 ‘अगर कृषि कानून पर किसान नेता हमारे साथ समझौता कर लें, पर आंदोलनकारी उनकी बात न मानें?’, हिंसक प्रदर्शनों के मुद्दे को ऐसे उठाएगी सरकार
2 परेड से एक रात पहले दीप सिद्धू और कुछ असामाजिक तत्वों ने लोगों को भड़काया, स्टेज पर कब्जा कर तय रूट का किया था विरोध
3 चिल्ला सीमा पर करतब दिखाते समय ट्रैक्टर पलटा, मार्ग अवरोधक तोड़कर किसानों ने की दिल्ली कूच की कोशिश, पुलिस ने रोका
आज का राशिफल
X