ताज़ा खबर
 

पेट्रोल पंप पर कार्ड से भुगतान पर ग्राहकों को नहीं चुकाना होगा कोई चार्ज, बैंक-तेल कंपनियां उठाएंगी भार

बैंकों द्वारा क्रेडिट और डेबिट कार्ड से भुगतान स्‍वीकार करने पर मर्चेंट्स से एमडीआर वसूला जाता है।

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर।

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि पेट्रोल पंपों पर ईंधन के लिए कार्ड से भुगतान करने पर ट्रांजेक्‍शन चार्ज बैंक और तेल कंपनियां वहन करेंगी। उन्‍होंने कहा, ”फैसला बेहद साफ है। ग्राहकों पर मर्चेंट डिस्‍काउंट रेट (एमडीआर) का बोझ नहीं डाला जाएगा। रिटेल आउटलेट्स (पेट्रोल पंपों) को भी इस परिधि से बाहर रखा जाएगा। अब यह बैंकों और तेल मार्केटिंग कंपनियों के बीच है कि वे इसे कैसे बांटते हैं। प्रधान वित्‍त मंत्रालय के वित्‍तीय सेवा विभाग द्वारा इस मुद्दे पर बुलाई गई एक बैठक के बाद रिपोर्टर्स से बात कर रहे थे। उन्‍होंने कहा, ”यह एक व्‍यापारिक फैसला है और वे (बैंकों और तेल मार्केटिंग कंपनियों) साथ बैठेंगे और इसे सुलझाएंगे।” बैंकों द्वारा क्रेडिट और डेबिट कार्ड से भुगतान स्‍वीकार करने पर मर्चेंट्स से एमडीआर वसूला जाता है। नोटबंदी के बाद यह चार्ज ग्राहकों से लिया जाने लगा था, मगर सरकार ने डिजिटल भुगतान को प्रमोट करने के लिए 30 दिसंबर तक छूट दे दी थी।

हालांकि समयसीमा खत्‍म होने के बाद बैंकों ने पेट्रोल पंप ऑपरेटरों से एमडीआर वसूलना शुरू कर दिया था क्‍योंकि सरकार इस बात को लेकर स्‍पष्‍ट थी कि कार्ड से भुगतान करने पर ग्राहकों से कोई अतिरिक्‍त चार्ज नहीं वसूला जाना चाहिए। जिसके बाद पेट्रोल पंप मालिकों ने कार्ड से भुगतान अस्‍वीकार करने की धमकी देकर सरकार को बीच में आने पर मजबूर कर दिया। प्रधान ने पहले भी कहा था कि बैंक और तेल कंपनियां इस बात पर चर्चा करेंगे कि इन शुल्‍कों को कौन, कितने अनुपात में वहन करेगा।

“कार्ड से भुगतान करने पर ग्राहकों, पेट्रोल पंप मालिकों पर नहीं लगेगा सरचार्ज”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App