दुर्गा पूजा पर बोलीं शेख हसीना- धर्म के आधार पर लोगों में फूट ना पड़े यह भारत को भी देखना होगा, वहां घटनाएं होती हैं तो बांग्लादेश में भी हिंदुओं को हमले झेलने पड़ते हैं

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोहों के दौरान कुछ अज्ञात उपद्रवियों ने हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की। इसपर काबू पाने के लिए शेख हसीना सरकार को 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी है।

Bangladesh Durga Puja, Sheikh Hasina
बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हुई हिंसा पर प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि घटना के जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी(फोटो सोर्स: ट्विटर/PTI)।

भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में दुर्गापूजा के दौरान हिंदू मंदिरों में की गई तोड़फोड़ से वहां दंगे भड़क गए हैं। इस बीच बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने गुरुवार को कहा कि, भारत को सुनिश्चित करना चाहिए कि, धर्म के आधार पर फूट ना पड़े। क्योंकि भारत में होनी वाली इस तरह की घटनाओं का असर बांग्लादेश पर पड़ता है और हिंदुओं पर हमले होते हैं।

माना जा रहा है कि बांग्लादेश में हिंदुओं पर हुए हमलों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश के बाद शेख हसीना ने भारत में होने वाली घटनाओं का जिक्र करके संतुलन बनाने की कोशिश की है। हालांकि हिंदू मंदिरों और पूजा पंडालों पर हुए हमलों को उन्होंने भारत की किसी विशेष घटना से नहीं जोड़ा।

शेख हसीना ने कहा कि, “जो लोग हमारे देश में 1975 के बाद सत्ता में आए, उन्होंने लोगों को विभाजित करने के लिए धर्म का इस्तेमाल किया। दुनिया में फैले आतंकवाद का हमारे देश पर भी बुरा प्रभाव पड़ा है।” उन्होंने कहा कि, “इसका मुकाबला करना सिर्फ हमारी जिम्मेदारी ही नहीं है, बल्कि भारत जैसे पड़ोसी देशों को भी इसके लिए सतर्क रहना चाहिए।” उन्होंने कहा कि, “भारत ने 1971 के मुक्ति संग्राम में हमारी मदद की और हम उस समर्थन के लिए हमेशा आभारी रहेंगे।”

गौरतलब है कि, बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान कुछ अज्ञात मुस्लिम उपद्रवियों ने हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की। इससे बने हालात को देखते हुए हसीना सरकार को 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुरुवार को संघर्ष में चार लोगों की मौत हो गई और कई घायल भी हैं।

प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि घटना के जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कमीला में मंदिरों और दुर्गा पूजा पंडालों पर हमला करने में शामिल दोषियों को सजा दिलवाने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि, हमला करने वाले किस धर्म से हैं, उन्हें सजा मिलेगी।

वहीं इन हमलों को लेकर हिंदू धार्मिक नेताओं का कहना है कि, यह सब साजिश के तौर पर किया गया है। उपद्रवियों की मंशा दुर्गा पूजा समारोह में बाधा पहुंचाने की है। हिंदू नेताओं द्वारा हिंदू मंदिरों की सुरक्षा की मांग की गई है।

वहीं इस मामले को लेकर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची गुरुवार को कहा कि, “हमें बांग्लादेश में धार्मिक आयोजनों के दौरान हमले की रिपोर्ट मिली है। हम बांग्लादेश सरकार के साथ संपर्क में हैं।” उन्होंने कहा, “बांग्लादेश सरकार ने पुलिस और दूसरी सुरक्षा व्यवस्थाएं की हैं। बांग्लादेश में दुर्गा पूजा आयोजन चल रहे हैं, इसमें बांग्लादेश सरकार और जनता का काफी सहयोग रहा है।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।