ताज़ा खबर
 

CAB: बीजेपी छोड़ व‍िरोध प्रदर्शन में शाम‍िल हुए जत‍िन बोरा, बांग्‍लादेशी व‍िदेश मंत्री ने रद्द क‍िया दौरा

CAB: बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने अपना हालिया भारत दौरा रद्द करने का फैसला किया है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन का 12-14 दिसंबर को भारत दौरा प्रस्तावित था।

Author Edited By नितिन गौतम नई दिल्ली | Updated: December 12, 2019 3:37 PM
बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन। (ANI)

CAB: नागरिकता संशोधन बिल को लेकर देश में काफी हंगामा देखने को मिल रहा है। अब इस बिल का असर पड़ोसी देशों के साथ भारत के संबंधों पर भी पड़ रहा है। दरअसल बांग्लादेश ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के उस बयान पर नाराजगी जाहिर की है, जिसमें अमित शाह ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों को सताए जाने के आरोप लगाए थे। बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने अमित शाह के इस बयान पर कड़ी नाराजगी जाहिर की है। अब खबर आयी है कि बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने अपना हालिया भारत दौरा रद्द करने का फैसला किया है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन का 12-14 दिसंबर को भारत दौरा प्रस्तावित था।

वहीं असमिया सिनेमा के मशहूर अभिनेता जतिन बोरा ने भी नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में भाजपा छोड़ दी है। इसके साथ ही जतिन बोरा CAB के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शनों में शामिल हो गए हैं। वहीं बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने अपना भारत दौरा रद्द करने के कारणों का भी खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि ‘उन्हें ‘बुद्दिजीबी देबोश’ और ‘बिजोय देबोश’ में शिरकत करनी है, जिसके चलते उन्हें अपना नई दिल्ली का दौरा रद्द करना पड़ा। इसके साथ ही हमारे राज्य मंत्री विदेश मैड्रिड में और विदेश सचिव हेग में हैं।’

बता दें कि बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने बुधवार को अपने एक बयान में कहा था कि नागरिकता संशोधन बिल से भारत की धर्मनिरपेक्ष छवि को नुकसान होगा। विदेश मंत्री ने कहा कि ऐतिहासिक रुप से भारत सहिष्णु देश है, जो धर्मनिरपेक्षता में भरोसा करता है, लेकिन यह छवि कमजोर होगी अगर वे इससे हटेंगे।

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में असम में हिंसा भड़क गई है। लोग सड़कों पर उतरकर इस बिल का विरोध कर रहे हैं। तनावपूर्ण हालात को देखते हुए सीआरपीएफ की कंपनियों की तैनाती की गई है। गुरुवार को असम सरकार ने विरोध प्रदर्शन के बीच गुवाहटी के पुलिस कमिश्नर और कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर किए हैं। इंटरनेट सेवाएं भी 48 घंटों के लिए बंद कर दी गई हैं। असम सरकार की तरफ से लोगों को शांति बनाए रखने की अपील की जा रही है और किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान ना देने को कहा जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Jharkhand Assembly Election 2019: तीसरे चरण की वोटिंग जारी, पहले हेमंत सोरेन और सरयू राय ने रांची एयरपोर्ट पर की गुफ्तगू
2 Citizenship Amendment Bill Protests Updates: CAB का विरोध कर रही ज्वाइंट मूवमेंट के सदस्यों ने गृह मंत्री से की मुलाकात, अनिश्चितकालीन हड़ताल वापस ली
3 CAB पर भड़कीं प्रियंका गांधी, कहा- संविधान की आत्मा छलनी करने वाला विधेयक, भाजपाई मंसूबों के खिलाफ पूरी मजबूती से लड़ेंगे
ये पढ़ा क्‍या!
X