ताज़ा खबर
 

‘जय श्री राम नहीं बोला तो ले लूंगा जान’, तीन किशोरों को धमकाने पर बजरंग दल नेता पर FIR

बजरंग दल के नेता ने एक युवक को धमकी दी और उस पर हमला कर जबरन 'जय श्रीराम' का नारा लगाने को कहा। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि 25 वर्षीय नेता के अलावा तीन नाबालिगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

प्रतीकात्मक फोटो।

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के बंटवाल तालुक में पुलिस ने बजरंग दल के एक स्थानीय नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बजरंग दल के इस नेता ने एक युवक को धमकी दी और उस पर हमला कर जबरन ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाने को कहा। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि 25 वर्षीय नेता के अलावा तीन नाबालिगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी का नाम दिनेश है वह बजरंग दल का नेता है। दिनेश के अलावा कुछ नाबालिग भी थे। जिनमें से एक की उम्र 17 साल है और एक की 16 साल। इसके अलावा पुलिस ने तीन और नाबालिगों को बुक किया है।

यह घटना कुछ दिन पहले सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील बंतवाल तालुक में हुई, लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पीड़ित ने बृहस्पतिवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के आधार पर विट्टल पुलिस थाने में बजरंग दल के नेता दिनेश और तीन नाबलिग लड़कों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

रिपोर्ट्स में कहा गया है कि लड़के ने हमले के बारे में किसी को नहीं बताया, लेकिन जब वीडियो वायरल हुआ, तो उसके माता-पिता ने कार्रवाई करने का फैसला किया। पुलिस ने कहा कि चारों ने पीड़ित को स्कूल के मैदान में पकड़ा और नारे न लगाने पर उसे जान से मारने की धमकी दी। पीड़ित पीयूसी का छात्र है और कुद्तमुगेरु गांव का रहने वाले हैं।

पुलिस ने बताया कि चारों ने पीड़ित की जेब से पैसे निकाल लिए और उस पर ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाने का जोर डाला।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘पीएम केअर फंड’ सरकारी अथॉरिटी नहीं, नहीं दे सकते RTI का जवाब, PMO ने लिखा
2 ढूंढिए मत गूगल पर बताइए केंद्रीय श्रम मंत्री का नाम? BJP प्रवक्ता गौरव भाटिया से लाइव शो में भिड़े कांग्रेस नेता
3 ‘विकास का ढोंग करती है बीजेपी, मोदी सरकार 2.0 के एक साल में मुस्लिम विरोधी मानसिकता रही उपलब्धि’, रामचंद्र गुहा का तंज