ताज़ा खबर
 

अयोध्या केस: मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी पर हमला, दी जान से मारने की धमकी!

अंसारी ने बताया कि मंगलवार दोपहर एक व्यक्ति और महिला उनके घर पर आए। उन्होंने कहा, ‘‘महिला ने वर्तिका के तौर पर खुद का परिचय दिया और दावा किया कि वह अंतरराष्ट्रीय शूटर है। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं विवाद में से अपना दावा वापस ले लूं और ऐसा नहीं करने पर उसने धमकी दी कि वह मुझे गोली मार देगी।’

नई दिल्ली | Updated: September 4, 2019 9:28 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

बाबरी मस्जिद-राम जन्म भूमि मामले में मुख्य वादियों में शामिल इकबाल अंसारी पर मंगलवार को उनके घर पर ही कथित रूप से हमला किया गया। अंसारी ने दावा किया कि उन्हें धमकी दी गई है कि अगर उन्होंने मामला वापस नहीं लिया तो उनकी हत्या कर दी जाएगी। उनके सुरक्षा कर्मी ने उन्हें हमलावरों से बचाया। पुलिस ने हमलावरों को हिरासत में ले लिया है।

अंसारी ने बताया कि मंगलवार दोपहर एक व्यक्ति और महिला उनके घर पर आए। उन्होंने कहा, ‘‘महिला ने वर्तिका के तौर पर खुद का परिचय दिया और दावा किया कि वह अंतरराष्ट्रीय शूटर है। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं विवाद में से अपना दावा वापस ले लूं और ऐसा नहीं करने पर उसने धमकी दी कि वह मुझे गोली मार देगी।’

अंसारी ने बताया, ‘‘इसके बाद उन्होंने मुझ पर हमला किया, लेकिन मेरे सुरक्षा कर्मी ने मुझे बचा लिया।’’ उन्होंने कहा कि उन्हें हमले में चोट नहीं आई है। उधर, फैजाबाद के एसपी विजय पाल सिंह ने कहा, ‘‘हमने उन्हें हिरासत में ले लिया है।’’ जब उनसे पूछा गया कि क्या पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं आपको बता दूंगा।’’

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड और अन्य मुस्लिम पक्षकारों की तरफ से मुकदमा लड़ने पर वरिष्ठ वकील राजीव धवन को कथित रूप से धमकाने पर दो व्यक्तियों से जवाब तलब किया है। चीफ जस्टिस की नेतृत्व वाली 5 जजों की संविधान पीठ ने जमीन विवाद मामले की 18वें दिन की सुनवाई में यह ‘नोटिस’ जारी किया।

पीठ अवमानना याचिका की सुनवाई दो सप्ताह बाद कर रही है। धवन ने एक रिटायर्ड अधिकारी एन षनमुगम और राजस्थान के रहने वाले संजय कलाल बजरंगी के खिलाफ अवमानना याचिका दायर की थी। उन्होंने याचिका में आरोप लगाया था कि उन्हें मुस्लिम पक्षकारों का प्रतिनिधित्व करने के लिए धमकियां मिली हैं।

Next Stories
1 Gujarat: अतिक्रमण हटाने वाले IAS अधिकारी पर भड़के BJP सासंद, कहा- अंग्रेजों वाली मानसिकता है इसकी, आदिवासियों को नहीं करता पसंद
2 INX Media Case: तिहाड़ जाएंगे पी चिदंबरम या मिलेगी बेल? पांच सितंबर को फैसला
3 SPG सुरक्षा क्या है, किसे मिलती है और कैसे करती है काम? जानिए
ये पढ़ा क्या?
X