ताज़ा खबर
 

बाबरी मस्जिद केस: आडवाणी, जोशी और उमा भारती पर चलेगा आपराधिक साजिश का मुकदमा, कोर्ट ने दी जमानत

Babri Masjid Case: 6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों ने बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया था।

बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती तथा नौ अन्य के खिलाफ आरोप तय करने के आदेश मंगलवार को दिए। आरोप आपराधिक साजिश के लिए भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 120 बी के तहत तय किए जाएंगे। इससे पहले, सभी 12 आरोपियों ने खुद को बेकसूर बताया और अपने खिलाफ लगे आरोपों को खारिज करने के लिए अदालत में एक अर्जी दाखिल की। विशेष न्यायाधीश एस.के.यादव ने याचिका खारिज करते हुए सभी 12 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश दिया। आरोपियों को हालांकि निजी मुचलके पर जमानत दे दी गई है।

अयोध्या में बाबरी ढांचा गिराए जाने के मामले में कोर्ट ने सभी आरोपियों को 20-20 हजार रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी है। बचाव पक्ष के वकील प्रशांत सिंह अटल ने बताया, “अदालत ने सुनवाई के बाद सभी 12 आरोपियों को जमानत दे दी। हमने अपनी बात रखी है। हमने अदालत को बताया है कि बाबरी मामले में इन लोगों की कोई संलिप्तता नहीं थी।”

HOT DEALS
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 8925 MRP ₹ 11999 -26%
    ₹446 Cashback

पढ़ें- सुनवाई से जुड़े सारे अपडेट्स

2:49 PM : सीबीआई की विशेष अदालत से लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत सभी 12 आरोपियों को  झटका। आपराधिक साजिश (धारा 120बी) के तहत चलाया जाएगा मुकदमा। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक कोर्ट ने इन सभी आरोपियों की आरोप खारिज करने की मांग को ठुकरा दिया है।

1: 20 PM : बाबरी मस्जिद केस में सीबीआई अदालत ने सुनाया फैसला, सभी 12 आरोपियों को दी जमानत। 20 हजार का बॉन्ड भरने का आदेश।

12: 38 PM : लखनऊ में सीबीआई की विशेष अदालत में बाबरी मस्जिद मामले में सुनवाई जारी है। कुछ ही देर में कोर्ट भारतीय जनता पार्टी के नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और अन्य पर आरोप तय करेगी। स्पेशल सीबीआई जज एसके यादव मामले की सुनवाई कर रहे हैं।

12: 24 PM : सीबीआई कोर्ट पहुंचे लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी। उमा भारती और विनय कटियार भी पेशी के लिए कोर्ट आए। कोर्ट के बाहर बीजेपी समर्थक जय श्री राम के नारे भी लगाते देखे गए।

12: 14 PM : लाल कृष्ण आडवाणी वीवीआईपी गेस्ट हाउस से सीबीआई कोर्ट के लिए रवाना हुए। इससे पहले का लाइव अपडेट  यहां पढ़ें

12:00 PM : बीजेपी समर्थकों की भारी भीड़ को देखते हुए सीबीआई कोर्ट के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

11:45 AM : केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा,यह कानूनी प्रक्रिया है। हमारे नेता बेकसूर हैं। मैं इस पर कोई और कमेंट नहीं करना चाहता।

11:30 AM : इससे पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने वीवीआईपी गेस्ट हाउस में लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात की थी।

11: 15 AM : केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा, ये खुला आंदोलन था जैसे इमरजेंसी के खिलाफ हुआ था। इस आंदोलन में क्या साजिश थी मुझे पता नहीं अभी। उमा भारती ने कहा, “मैं खुद को अपराधी नहीं समझती। ये केस भगवान से जुड़ा है और मुझे भगवान से ही आशा है।

11:00 AM : बीजेपी सांसद विनय कटियार ने कहा है कि उनपर लगे सभी आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं और इस मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के खिलाफ हत्या का केस चलना चाहिए। कटियार ने कहा, ‘अदालत का जो आदेश है वह सिर आंखों  पर है। उसका पालन करना है और इस मामले में जो होगा वह देखा जाएगा। उन्होंने कहा है, ‘’वहां तो लाखों लोग थे, फिर साजिश किसकी थी। ये सब बेकार की बातें और बकवास बातें हैं। ये सब झूठे आरोप हैं।’’

बता दें कि यह अदालत सन् 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले की रोजाना सुनवाई कर रही है। इससे पहले कोर्ट ने बीजेपी नेता विनय कटियार, विश्व हिंदू परिषद् के विष्णु हरि डालमिया और साध्वी ऋतंभरा को व्यक्तिगत तौर पर पेश होने को कहा था। कोर्ट ने यह भी कहा था कि पेशी से छूट के लिए किसी भी तरह की अर्जी को माना नहीं जाएगा। कोर्ट बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े दो मामलों पर सुनवाई करेगा और दूसरे मामले में महंत नृत्यगोपाल दास, महंत राम विलास वेदांती, बैकुंठ लाल शर्मा उर्फ प्रेम जी, चंपत राय बंसल, महंत धर्म दास और सतीश प्रधान पर आरोप तय करेगा। इससे पहले 19 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने इस बेहद राजनीतिक संवेदनशील मामले में आडवाणी, उमा भारती, और मुरली मनोहर जोशी और अन्यों के खिलाफ आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने का आदेश दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App