ताज़ा खबर
 

बाबा रामदेव बोले- मुंह तोड़ जवाब देने से कुछ नहीं होगा, PoK में घुसकर हमला करना होगा

उरी हमले को लेकर बाबा रामदेव ने बयान दिया है कि भारत को अवैध रूप से कब्‍जाए हुए कश्‍मीर में घुसकर पाकिस्‍तान के सभी आतंकी ट्रेनिंग कैंप नष्‍ट कर देने चाहिए।

योगगुरु बाबा रामदेव। (फाइल फोटो)

उरी हमले को लेकर बाबा रामदेव ने बयान दिया है कि भारत को अवैध रूप से कब्‍जाए हुए कश्‍मीर में घुसकर पाकिस्‍तान के सभी आतंकी ट्रेनिंग कैंप नष्‍ट कर देने चाहिए। रामदेव ने सोमवार को कहा,”अब देश में अहिंसा के साथ, वीरत्व की बात भी करनी होगी। मोदी जी को बुद्ध और युद्ध, दोनों का समन्वय करना होगा। मुंह तोड़ देने से कुछ नहीं होगा। अब हमें इन सब आतंकियों के मुंह तोड़ देने चाहिए।” हालांकि योग गुरु ने कहा कि युद्ध कोई हल नहीं है लेकिन कुछ कड़े कदम तो उठाने होंगे। अगर ऐसा नहीं हुआ तो इस तरह के और हमले भी होते रहेंगे। उरी हमले में सेना के 18 जवान शहीद हो गए थे। हमला करने वाले सभी चारों आतंकी मारे गए थे।

इस हमले के बाद से देश में पाकिस्‍तान से बदला लेने की भावना देखी जा रही है। हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं अन्य मंत्रियों ने सोमवार को इस मसले पर सेना और खुफिया एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। सूत्रों के अनुसार सैन्य अधिकारियों ने सरकार को जल्दबाजी में सैन्य कार्रवाई न करने की सलाह दी। सेना के उच्च अधिकारियों ने सरकार से कहा कि पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर अपनी रक्षात्मक उपाय कर लिए हैं। बैठक में हुई बातचीत के बारे में ज्यादा जानकारी बाहर नहीं आई है। सैन्य अधिकारियों ने सरकार को पाकिस्तान पर तत्काल सैन्य हमला करने के खिलाफ राय दी। इस बैठक में पीएम मोदी के अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, वित्त मंत्री अरुण जेटली, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, थल सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग, इत्यादि शामिल थे।

बैठक में जिहादियों के नेटवर्क और पाकिस्तानी सेना आधारभूत ढांचे का जवाब देने के लिए दीर्घकालिक विकल्पों पर चर्चा की गई। सोमवार को ही पीएम मोदी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पूरे मामले की जानकारी दी। सूत्रों के अनुसार सैन्य अधिकारियों ने सरकार से कहा कि रविवार से पाकिस्तान को काफी वक्त मिल चुका है और वो एलओसी के पास अपनी स्थिति मजबूत कर चुका है। ऐसे में जवाबी कार्रवाई ज्यादा जोखिम भरी होगी। इसके अलावा इस वक्त अगर हमला किया गया तो सीमापार से घुसपैठ की आशंका बढ़ जाएगी जिससे कश्मीर में पहले से सक्रिय जिहादी गुटों को मदद मिलेगी। माना जा रहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने पीएम मोदी के साथ अलग से भी मुलाकात की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App