ताज़ा खबर
 

इंडियन इंडस्ट्री में डर! बाबा रामदेव हो सकते हैं देश के अगले टाटा या अंबानी

पतंजलि के लिए असंख्य संभावनाएं हैं, क्योंकि भारत में वह खुद में बहुत बड़ा घरेलू ब्रांड है। ग्लोबल रिसर्च फर्म लेपसॉस के हालिया अध्ययन में यह बात सामने आई है कि भारत में पतंजलि गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और फेसबुक के बाद चौथा सबसे प्रभावी ब्रांड है।

Author नई दिल्ली। | July 15, 2017 8:50 PM
योगगुरु रामदेव (FILE PHOTO)

योगगुरु बाबा रामदेव ने एफएमसीजी सेक्टर ने अपने आयुर्वेदिक फार्मेसी कारोबार का विस्तार करके मल्टीनेशनल कंपनियों में डर पैदा कर दिया है। अब रामदेव ने नई इंडस्ट्री में कदम रखा है। यह इंडस्ट्री है प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी। फिक्की की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में प्राइवेट सुरक्षा एजेंसी सेक्टर 40,000 करोड़ रुपये का है और पिछले कुछ सालों में इस सेक्टर में आई तेजी को देखते हुए साल 2020 तक इसके बढ़कर 80,000 करोड़ रुपये तक होने का अनुमान है। बाबा रामदेव की एंट्री से बड़ी-बड़ी कंपनियों और कॉर्पोरेट लीडर्स को डर महसूस करने लगे होंगे। रामदेव का नया उपक्रम इंगित करता है कि वह एक ऐसे व्यापार में उतरे हैं, जिसके बारे में उन्हें कोई अनुभव नहीं है, लेकिन उनके ट्रैक रिकॉर्ड से पता चलता है कि वह क्या कर सकते हैं। सिर्फ 10 साल में छोटी से पतंजलि आयुर्वेदिक को बाबा रामदेव ने एफएमसीजी मार्केट की टॉप की कंपनियों में खड़ा कर दिया है। अगर बाबा रामदेव का नया वेंचर भी इस तरह कामयाबी हासिल करता है तो कौन जानता है कि कल को वो टेलिकॉम सेक्टर में एंट्री कर लें।

HOT DEALS
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15727 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹0 Cashback
  • Vivo V5s 64 GB Matte Black
    ₹ 13099 MRP ₹ 18990 -31%
    ₹1310 Cashback

इकोनॉनिक टाइम्स डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक पतंजलि के लिए असंख्य संभावनाएं हैं, क्योंकि भारत में वह खुद में बहुत बड़ा घरेलू ब्रांड है। ग्लोबल रिसर्च फर्म लेपसॉस के हालिया अध्ययन में यह बात सामने आई है कि भारत में पतंजलि गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और फेसबुक के बाद चौथा सबसे प्रभावी ब्रांड है। पतंजलि ने देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई, टेलिकॉम दिग्गज एयरटेल, रिलायंस जियो और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों को भी पीछे छोड़ दिया है। बाबा रामदेव की उद्यमी प्रतिभा और उनकी विशाल जन स्वीकार्यता का मिक्सअप कॉर्पोरेट भारत के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकता है। बाबा रामदेव ने प्राइवेट सिक्योरिटी का बिजनेस सिर्फ इसलिए नहीं चुना है कि क्योंकि यह सेक्टर बूमिंग है। साथ ही यह उनकी राष्ट्रवादी और स्वदेशी छवि पर भी फिट बैठता है। वह अपने नए वेंचर के पीछे राष्ट्रवादी भावना की घोषणा करने से भी शर्माते नहीं है।

योग गुरु बाबा रामदेव की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया, “पराक्रम सुरक्षा एजेंसी देश के प्रत्येक नागरिक के जीवन में आत्मसुरक्षा एवं राष्ट्रसुरक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ाने का काम करेगी।” यह बात कल्पना से परे नहीं है कि राष्ट्रवादी लहर पर सवारी कर रहे रामदेव अगले टाटा या अंबानी बन जाएं। इस संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता। इसके साथ ही रामदेव का यह फार्मूला दूसरे धर्म गुरुओं के लिए नहीं रास्ते प्रदान कर सकता है।

योग के बाद बाबा रामदेव ने खोली प्राइवेट सिक्यॉरिटी कंपनी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App