ताज़ा खबर
 

PAK की नापाक हरकतों पर भड़के रामदेव, बोले- जवाब देने का यही सही वक्त, PoK को फिर भारत में मिलाओ

चीन की ओर से मिल रही धमकियों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अगर चीन युद्ध के लिए ललकारता है तो उसके लिए देशवासी एकजुट होकर मोदी सरकार का साथ दें।

Author नई दिल्ली | August 5, 2017 10:43 AM
बाबा रामदेव ने पतंजलि आयुर्वेद की स्थापना की है लेकिन उनकी कंपनी में कोई हिस्सेदारी नहीं है। (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस)

डोकलाम विवाद को लेकर चीन और भारत के खराब होते रिश्तों को बीच एक बार फिर से चीनी सामान के बहिष्कार को लेकर आवाज फिर से मुखर हो गई है। स्वदेशी वस्तुओं को बढ़ावा देने वाले योगगुरु बाबा रामदेव ने अब लोगों से चीनी प्रोडेक्ट्स को नकारने की अपील की है। उन्होंने आतंकवाद के मुद्दे पर भी पाकिस्तान और चीन पर निशाना साधा है। एएनआई से बातचीत में रामदेव ने कहा कि चीन अब सीधे तौर पर पाकिस्तान के आतंकवादियों का खुला समर्थन कर रहा है। बाबा रामदेव की ओर से यह बयान चीन के उस कदम के बाद आई है जब चीन ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर फिर से अड़ंगा लगा दिया है।

बाबा रामदेव ने कहा, “अब वक्त आ गया है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) का भारत में विलय करे और आर्थिक स्तर पर सभी देशवासी चीन के बने सामानों को बहिष्कार करें। यह बात रामदेव ने अपने सहयोगी आचार्य बालकृष्ण के 44वें जन्मदिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान हरिद्वार में कहा। रामदेव ने कहा कि पाकिस्तान बॉर्डर से लेकर डोकलाम तक जिस तरह से युद्ध की धमकी दे रहा है, इस लिहाज से अब समय आ गया है कि पाकिस्तान को जवाब देने के लिए पीओके का पुन: विलय करें।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 19959 MRP ₹ 26000 -23%
    ₹0 Cashback
  • I Kall Black 4G K3 with Waterproof Bluetooth Speaker 8GB
    ₹ 4099 MRP ₹ 5999 -32%
    ₹0 Cashback

चीन की ओर से मिल रही धमकियों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अगर चीन युद्ध के लिए ललकारता है तो उसके लिए देशवासी एकजुट होकर मोदी सरकार का साथ दें, राजनीतिक पार्टियों को भी आपसी छींटाकशी से बाहर आकर राष्ट्र की एकता, अखंडता और संप्रभुता के विषय पर दलों को भिन्न भी राग नहीं अलापना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने चीन को सबक सीखाने के लिए चीनी वस्तुओं का इस्तेमाल न करने की देशवासियों से अपील की है।

बता दें कि चीन ने पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर को वैश्विक आंतकी घोषित किए जाने पर रोक लगा दी है। चीन ने संयुक्त राष्ट्र में अपने वीटो का इस्तेमाल करते हुए अड़ंगा लगाया। अमेरिका, फ्रांस और यूके की तरफ से जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने 3 महीने के लिए तकनीकी रोक लगा दी है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App