ताज़ा खबर
 

किसान आंदोलन: कृषि मंत्री से मुलाकात के बाद बोले बाबा लक्खा सिंह- लोग मर रहे हैं, ये पीड़ा असहनीय

नानकसर गुरुद्वारा के प्रमुख बाबा लक्खा सिंह ने आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की।

नानकसर गुरुद्वारा के प्रमुख बाबा लक्खा सिंह।

नानकसर गुरुद्वारा के प्रमुख बाबा लक्खा सिंह ने आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि लोग जान गंवा रहे हैं; बच्चे, किसान, बुजुर्ग और महिलाएं सड़क पर बैठे हैं। ये दुख असहनीय है। मुझे लगा कि इसे किसी तरह हल किया जाना चाहिए। इसलिए मैंने आज (कृषि मंत्री) उनसे मुलाकात की। वार्ता अच्छी थी, हमने समाधान खोजने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि हमारे पास एक नया प्रस्ताव आएगा और इस मामले का हल खोजा जाएगा। हम इसे जल्द से जल्द हल करने की कोशिश करेंगे। मंत्री ने मुझे आश्वासन दिया कि वह समाधान खोजने में हमारे साथ हैं।

वहीं, बीजेपी नेता सुरजीत कुमार ज्ञानी ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा कि सरकार किसानों की सुनने को तैयार है लेकिन किसान जिद पकड़े हुए हैं। पंजाब में कानून और व्यवस्था बर्बाद हो गई है। हमारे कार्यकर्ताओं के घरों के बाहर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। पंजाब में जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल और गुंडागर्दी हो रही है – हमने इसके बारे में गृह मंत्री को बताया।

उन्होंने कहा कि किसानों की सभी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार तैयार है। लेकिन किसान अब कह रहे हैं कि कानूनों को निरस्त किया जाए। वे ऐसा क्यों कह रहे हैं? मुझे लगता है कि किसान यूनियनें समाधान नहीं चाहती हैं। मुझे लगता है कि उनकी योजना कुछ और है।

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैट ने आज कहा कि हम 26 जनवरी की परेड में भाग लेंगे। एक तरफ टैंक होंगे और दूसरी तरफ ट्रैक्टर। आज की रैली अच्छी रही। परेड में हिस्सा लेने के लिए उस दिन भी लोग बड़ी संख्या में दिल्ली आएंगे।

वहीं आज नोएडा में भारतीय किसान यूनियन ने कृषि कानूनों के खिलाफ महा माया फ्लाईओवर से चिल्ला बॉर्डर तक ट्रैक्टर मार्च शुरू किया। हरियाणा में भी किसानों ने पलवल में ट्रैक्टर रैली की। राष्ट्रीय किसान कल्याण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव कुमार कक्का ने कहा,”हम यहां से सिंघू सीमा की ओर बढ़ेंगे।”

इसके अलावा गाज़ीपुर बॉर्डर पर भी किसानों ने प्रदर्शन किया। मालूम हो कि किसानों और केंद्र सरकार के बीच अगले दौर की बातचीत कल आयोजित होने वाली है। इस बीच आज किसानों की ट्रैक्टर रैली के चलते कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) टोल प्लाजा पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई।

Next Stories
1 ‘बाधा, बाधा, बाधा और तभी जनता ने इनको बना दिया है आधा’, गौरव भाटिया का कांग्रेस पर तंज
2 पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव: कांग्रेस, लेफ्ट के बीच सीट शेयरिंग पर नहीं बनी बात, दोबारा होगी बैठक
3 Maharashtra New DGP: आतंकी हमले के वक्त RDX से भरा बैग उठाकर भागे, जानिए कौन हैं नक्सलियों से लेकर आतंकियों तक से लोहा लेने वाले वरिष्ठ IPS हेमंत नगराले
ये पढ़ा क्या?
X