ताज़ा खबर
 

ताज महल पर संगीत सोम के बयान पर भड़के आजम खान, बोले- राष्ट्रपति भवन भी गुलामी की निशानी, उसे भी तोड़ा जाए

'सिर्फ अकेला ताज महल ही क्यों? पार्लियामेंट, राष्ट्रपति भवन, कुतुब मीनार, लाल किला क्यों नहीं? ये सब भी तो गुलामी की निशानी हैं। इन्हें भी तोड़ा जाना चाहिए।'

Author नई दिल्ली | October 17, 2017 12:33 pm
समाजवादी पार्टी नेता आजम खान (File Photo)

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने अब ताज महल विवाद पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि राष्ट्रपति भवन और पार्लियामेंट भी तोड़ दिए जाने चाहिए, क्योंकि ये सब भी गुलामी की निशानी हैं। बीजेपी विधायक संगीत सोम की टिप्पणी के बाद से विवाद बन चुके ताज महल मुद्दे पर आजम खान ने कहा, ‘सिर्फ अकेला ताज महल ही क्यों? पार्लियामेंट, राष्ट्रपति भवन, कुतुब मीनार, लाल किला क्यों नहीं? ये सब भी तो गुलामी की निशानी हैं। इन्हें भी तोड़ा जाना चाहिए।’ सपा नेता आजम खान का कहना है कि वह हमेशा से ही इसके पक्ष में हैं कि जितनी भी गुलामी की निशानियां हैं, उन्हें तोड़ दिया जाना चाहिए।

ताज महल को लेकर संगीत सोम की टिप्पणी पर तंज कसते हुए सपा नेता ने कहा, ‘मैं पहले से ही यह कह रहा हूं कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए जिनसे कल के शासकों की बू आती है। जाहिर है अगर ये सभी स्मारक कपटियों की निशानी हैं तो इन्हें नष्ट कर देना चाहिए।’

बता दें कि ताज महल विवाद उत्तर प्रदेश के सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम का बयान सामने आने के बाद शुरू हुआ। संगीत सोम ने दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताज को भारतीय संस्कृति पर धब्बा बताया था। उन्होंने कहा था कि ताज महल बनाने वाले ने उत्तर प्रदेश और हिंदुस्तान से सभी हिंदुओं का सर्वनाश करने का काम किया था। ऐसों का नाम अगर इतिहास में होगा तो वह बदला जाएगा। राज्य सरकार के पर्यटन विभाग ने बीते दिनों ऐतिहासिक धरोहरों और स्थलों की एक सूची जारी की थी, जिसमें आगरा के ताज महल का नाम नहीं था। बाद में सरकार की उस पर सफाई आई थी कि वह गलती से उस सूची में शामिल किए जाने से रह गया था। राजनीतिक गलियारों से लेकर सोशल मीडिया पर योगी सरकार की इस बाबत खूब आलोचना हुई थी।

संगीत सोम के इस बयान से ज्यादातर बीजेपी नेताओं ने किनारा करते हुए कहा कि ये उनका निजी विचार है। वहीं वरिष्ठ भाजपा नेता और सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने संगीत सोम का बचाव करते हुए कहा कि वह उनके वकील नहीं हैं, लेकिन इतना जरूर कहेंगे कि ताज महल चोरी की जमीन पर बनाया गया था। सोमवार को सीएनएन न्यूज-18 पर ताज महल मसले को लेकर हुई डिबेट में स्वामी ने कहा था कि दिक्कत चीजों को बयान करने में है। सोम विचारों के बाजार में हैं। लोग अगर उन्हें नकार दें, तो यह सबसे बेहतरीन जवाब होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App