ताज़ा खबर
 

अयोध्या फैसले पर यूपी पुलिस ने डिलीट करवाया बीजेपी समर्थक मुस्लिम का पोस्ट, महिला पत्रकार को चेताया- पड़ेगा भुगतना

उत्तर प्रदेश पुलिस ने फैसले पर बीजेपी समर्थक मुस्लिम शहजाद पुनावाला और महिला पत्रकार राणा अयूब के ट्वीट को पॉलिटिकल कमेंट करार देते हुए डिलीट करवाया है।

Author Updated: November 9, 2019 5:55 PM
शहजाद पूनावाला और पत्रकार राणा अयूब। फोटो: PTI

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने एकमत से रामलला के पक्ष में फैसला सुनाया है। इस फैसले पर लोग अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। उत्तर प्रदेश पुलिस ने फैसले पर बीजेपी समर्थक मुस्लिम शहजाद पुनावाला और महिला पत्रकार राणा अयूब के ट्वीट को पॉलिटिकल कमेंट करार देते हुए डिलीट करवाया है।

दरअसल शहजाद ने ट्वीट किया था कि जिसमें उन्होंने लोगों से कहा था कि अगर आप राम के साथ हैं तो मेरे पोस्ट को रिट्वीट किजिए और अगर आप बाबर की औलाद हैं तो इसे इग्नोर कीजिए। यूपी पुलिस ने इस ट्वीट को पॉलिटिकल कमेंट करार दिया और ट्वीट डिलीट करने के लिए कहा। इसके साथ ही यह भी कहा गया कि अगर ऐसा नहीं किया जाता तो वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। हालांकि इसके बाद शहजाद पूनावाला ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।

वहीं महिला पत्रकार ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘कल भारत के लिए बड़ा दिन है। जो लोग आज सत्ता में हैं उन्होंने बाबरी मस्जिद स्मारक को 6 दिसंबर 1992 को गिरा दिया था। यह भारतीय मुसलमानों के लिए आस्था का प्रतीक था। इस घटना ने मेरे जीवन और मुसलमानों की एक पीढ़ी को बदल दिया। उम्मीद है कि मेरा देश कल मुझे निराश नहीं करेगा।’ उनके इस ट्वीट पर यूपी पुलिस ने कार्यवाही और ट्वीट डिलीट करने की बात कही। इसके बाद पत्रकार ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।

बता दें कि फैसले के मद्देनजर सोशल मीडिया पर किसी तरह की भ्रांति और अफवाह न फैले इसके लिए सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखी जा रही है। सोशल मीडिया मॉनिटरिंग टीम बनाई गई है। इस टीम की जिम्मेदारी सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालों को चिन्हित करना है। वॉट्सऐप, ट्विटर और फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म्स पर पैनी मॉनिटरिंग की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Ayodhya case: मुस्लिम नेताओं ने अयोध्या पर फैसले को स्वीकार किया, शांति का किया आह्वान
2 Ayodhya Verdict: ‘मैं आडवाणी जी के घर मत्था टेकने आई, उन्हीं की बदौलत हम दोबारा सरकार में आए
3 Ayodhya Verdict: सुप्रीम कोर्ट का फैसला अंतिम नहीं? नाराज पक्ष के पास अभी भी हैं ये विकल्प