ताज़ा खबर
 

सियाचिन में हिमस्खलन: बचाए गए लांस हवलदार शहीद, एक जवान अभी भी लापता

मौसम विभाग ने लेह और कश्मीर के बाकी हिस्सों में शुक्रवार को हिमस्‍खलन की चेतावनी जारी करते हुए लोगों को इन इलाकों में नहीं जाने को कहा था।

Author March 25, 2016 7:36 PM
इससे पहले 3 फरवरी को सियाचिन में आए हिमस्‍खलन की चपेट में आने से सेना के 10 जवान शहीद हो गए थे। (Express Photo by Praveen Khanna)

जम्‍मू-कश्‍मीर के लद्दाख में हिमस्‍खलन के दौरान फंसे लांस हवलदार भवन तमांग ने शुक्रवार को आखिरी सांस ली। वह लद्दाख के तुरतुक सेक्टर में तैनात थे, जहां पर पेट्रोल पार्टी हिमस्‍खलन की चपेट में आ गई थी। इनमें से एक जवान लापता हैं, जबकि भवन तमांग को रेसेक्‍यू कर लिया गया था। उसके बाद उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। तमांग दार्जलिंग के लोपशु गांव के रहने वाले हैं।

Read Also: 12 दिन बाद दिल्‍ली लाए गए सियाचिन में शहीद हुए इन नौ जवानों के शव 

जानकारी के मुताबिक, मौसम विभाग ने लेह और कश्मीर के बाकी हिस्सों में शुक्रवार को हिमस्‍खलन की चेतावनी जारी करते हुए लोगों को इन इलाकों में नहीं जाने को कहा था। 10 मार्च को कारगिल में भी हिमस्‍खलन आया था, जिसमें दो दब गए थे। एक जवान का शव 3 दिन बाद बर्फ से निकाला गया था।

Read Also: भारतीय सेना की जांबाज़ी की मिसाल है सियाचिन, यहां पाक नहीं कुदरत है सबसे बड़ी दुश्मन

इससे पहले 3 फरवरी को सियाचिन में आए हिमस्‍खलन की चपेट में आने से सेना के 10 जवान शहीद हो गए थे। लांस नायक हनुमनथप्पा को 6 दिन बाद जिंदा रेस्क्यू किया गया था। हालांकि, उन्हें बाद में बचाया नहीं जा सका। इससे पहले 3 जनवरी 2016 को हिमालयन रेंज के लद्दाख में आए हिमस्‍खलन में सेना के 4 जवान शहीद हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X