ताज़ा खबर
 

अभी तक 31% प्रवासी मजदूरों को ही मिला है मुफ्त अनाज, 30 सितंबर तक ही लागू है योजना

केंद्र सकार ने 1 जून, 2020 को एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना भी शुरू की थी और एक अगस्त, 2020 तक 24 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश को इसमें कवर किया गया।

Public distribution systemतस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एएफपी)

देश में प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार की आत्मनिर्भर योजना के तहत मुफ्त अनाज सिर्फ 31 फीसदी लाभार्थियों को ही मिल पाया है। केंद्र सरकार ने श्रम पर संसदीय स्थाई समिति को ये जानकारी दी है। हालांकि कई राज्य सरकारें अपने यहां इस योजना का पालन करवाने में विफल भी रही हैं। सोमवार (17 अगस्त, 2020) को पैनल की एक बैठक में केंद्र ने बताया कि आठ लाख मीट्रिक टन अनाज प्रवासियों को वितरण के लिए रखा गया था।

इसमें से 6,38,000 टन अनाज (लगभग 80 फीसदी) केंद्र द्वारा राज्यों को दिया जाना था जो कि लाभार्थियों के बीच वितरित होना था। हालांकि पांच अगस्त, 2020 तक सिर्फ 2,46,000 टन अनाज राज्यों द्वारा 2.51 करोड़ लोगों के बीच वितरित किया गया। ये इस योजना के लिए कुल अनाज का सिर्फ 30.75 फीसदी है और राज्यों को उपलब्ध कराए गए अनाज का 38.55 फीसदी है।

दरअसल केंद्र सरकार ने ये योजना कोरोना वायरस महामारी के चलते बड़े पैमाने पर रिवर्स माइग्रेशन के मद्देनजर शुरू की थी। योजना 31 सितंबर, 2020 तक अमल में रहेगी, हालांकि योजना उपयुक्त बैठती है तो इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है। बता दें कि अनाज बांटने का दायित्व राज्य सरकारों के पास हैं। सूत्रों ने बताया कि योजना के आखिर में राज्यों के पास पड़े अनाज को उनके कोटे में समायोजित किया जाएगा।

Bihar, Jharkhand Coronavirus LIVE Updates

असंगठित और अनौपचारिक क्षेत्रों में प्रवासियों और श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा और कल्याणकारी उपायों पर संसदीय समिति को दिए एक प्रेजेंटेशन के दौरान उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

केंद्र सकार ने 1 जून, 2020 को एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना भी शुरू की थी और एक अगस्त, 2020 तक 24 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश को इसमें कवर किया गया। सरकार की योजना 31 मार्च, 2021 तक पूरे देश को इसमें कवर करने की है। हालांकि अधिकांश प्रवासी मजदूर इस योजना का प्रयोग नहीं कर पाए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रशांत भूषण केसः SC से बोले देशभर के 1500 वकील- सही कदम उठा रोकें न्याय की विफलता
2 व्यक्तित्व: कमला हैरिस – मां ने कमल की तरह जड़ों से जोड़े रखा
3 जानें-समझें: नया कर ढांचा और करदाता, …इस तरह बदल जाएगी कर प्रणाली
यह पढ़ा क्या?
X