ताज़ा खबर
 

Atal Bihari Vajpayee: नेहरू-शास्त्री की समाधियों के बीच बनेगी समाधि, इन मार्गों से गुजरेगी शवयात्रा

Atal Bihari Vajpayee funeral procession News: अंत्येष्टि को लेकर तय कार्यक्रम के मुताबिक, यमुना के किनारे अटल बिहारी वाजपेयी का समाधि स्थल बनाया जाएगा। यूपीए सरकार ने नदी के किनारे समाधि स्थल पर रोक लगा दी थी, लेकिन मोदी सरकार ने इस फैसले को पलटते हुए यमुना नदी के किनारे समाधि स्थल बनाने का निर्णय किया।

Author August 17, 2018 10:44 AM
अंतिम संस्कार के बाद यहीं पर पूर्व प्रधानमंत्री का समाधि स्थल बनाया जाएगा। (PTI Photo/Manvender Vashist)

Atal Bihari Vajpayee: funeral: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंत्येष्टि शुक्रवार शाम चार बजे स्मृति वन में किया जाएगा। राजघाट के पास शांति वन में बने स्मृति स्थल में गुरुवार को रात से ही तैयारियां शुरू कर दी गईं थीं। अंतिम संस्कार के बाद यहीं पर पूर्व प्रधानमंत्री का समाधि स्थल बनाया जाएगा। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस बाबत फैसला किया गया। उनकी समाधि दो पूर्व प्रधानमंत्रियों- जवाहरलाल नेहरू (शांति वन) और लाल बहादुर शास्त्री (विजय घाट) की समाधियों के बीच बनाई जाएगी। गुुरुवार रात में ही स्मृति स्थल पर सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए गए। स्मृति स्थल पर सफाई और अन्य इंतजाम शुरू कर दिए गए। सुरक्षा बलों ने आसपास के इलाकों में ऐहतियातन तलाशी अभियान भी चलाया। गृह मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, सुरक्षा बलों को स्मृति स्थल के अंदर और बाहर तैनात किया गया है। सीमा सुरक्षा बल की एक टुकड़ी पहले से ही स्मृति स्थल की निगरानी करती रही है। उस टुकड़ी के अलावा भी अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

अंत्येष्टि को लेकर तय कार्यक्रम के मुताबिक, यमुना के किनारे अटल बिहारी वाजपेयी का समाधि स्थल बनाया जाएगा। यूपीए सरकार ने नदी के किनारे समाधि स्थल पर रोक लगा दी थी, लेकिन मोदी सरकार ने इस फैसले को पलटते हुए यमुना नदी के किनारे समाधि स्थल बनाने का निर्णय किया। इस संबंध में मोदी सरकार शुक्रवार को अध्यादेश ला सकती है।
रात साढ़े नौ बजे से अटल बिहारी वाजपेयी के पार्थिव शरीर को उनके छह कृष्ण मेनन मार्ग स्थित आवास पर दर्शनार्थ रखा गया। उनके शरीर पर राष्ट्रीय ध्वज ओढ़ाया गया था। वहां से शुक्रवार को उनके शरीर को दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित भाजपा मुख्यालय ले जाया जाएगा, जहां से स्मृति स्थल के लिए शवयात्रा निकाली जाएगी। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि दी गई। इसी बैठक में राष्ट्रीय शोक की घोषणा और अन्य तैयारियों के बारे में फैसला किया गया।

इन मार्गों से गुजरेगी शवयात्रा

अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर कृष्ण मेनन मार्ग, सुनहरी बाग, तुगलक रोड, अकबर रोड, तीन जनवरी मार्ग, जनपथ से लेकर विडंसर प्लेस, मान सिंह रोड, सी-हेक्सागॉन से शाहजहां रोड, राजपथ पर मान सिंह रोड से सी-हैक्सागॉन तक, केजी मार्ग पर फिरोजशाह रोड, कॉपरनिकस मार्ग, शाहजहां रोड, जाकिर हुसैन मार्ग, तिलक मार्ग, भगवान दास रोड, मथुरा रोड, भैंरो सिंह मार्ग टी प्वाइंट तक, बहादुरशाह जफर मार्ग से इंडिया गेट तक, आइपी मार्ग, डीडीयू मार्ग, जहवाहर लाल नेहरू मार्ग, आइजी स्टेडियम टी प्वाइंट से युमना बाजार, दिल्ली गेट से छत्ता रेल, नेता जी सुभाष मार्ग से शांति वन तक।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Atal Bihari Vajpayee: अटल जी का अंतिम संस्कार शुक्रवार को, सोनिया गांधी समेत कई हस्तियां अंतिम दर्शन करने पहुंची
2 किसी ने कहा ‘अजातशत्रु’, किसी ने ‘वन्स इन अ ब्लू मून’, अटल जी के प्रति नेताओं की शोक संवेदनाएं
3 Atal Bihari Vajpayee: ‘गुरु जी से तुम्हारी शिकायत करूंगा’, योगी आदित्यनाथ से तब बोले थे अटल बिहारी वाजपेयी