ताज़ा खबर
 

Atal Bihari Vajpayee: शिवराज सिंह चौहान और वसुंधरा राजे ने रोकीं चुनावी यात्राएं, देश भर से नेता पहुंच रहे दिल्‍ली

Atal Bihari Vajpayee Latest News: वाजपेयी लगभग दो महीने से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, बीते तीन दिनों से उनकी हालत नाजुक चल रही थी।

मध्य प्रदेश और राजस्थान में आगामी दिनों में विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन दोनों जगह के सीएम ने चुनावी यात्राएं रोक दी हैं। (फाइल फोटो)

Atal Bihari Vajpayee Health News Live Update: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपनी-अपनी चुनावी यात्राओं पर विराम लगा दिया है। गुरुवार (16 अगस्त) को वे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हाल-समाचार जानने के लिए नई दिल्ली पहुंचे। दोपहर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भी दिल्ली पहुंचने की खबर है। शिवराज और वसुंधरा के अलावा देश भर से विभिन्न पार्टियों के नेता राजधानी स्थित अस्पताल में पूर्व पीएम को देखने पहुंचे।

वाजपेयी लगभग दो महीने से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती हैं। वाजपेयी को यूटीआई संक्रमण, लोअर रेस्पिरेट्री ट्रैक्ट इंफेक्शन और किडनी से जुड़ी बीमारियों के चलते एम्स में लगभग दो महीने पहले भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक, बीते तीन दिनों से उनकी हालत नाजुक चल रही थी। बुधवार (15 अगस्त) की रात उनकी तबीयत में और गिरावट देखने को मिली, जिसके बाद उनके लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया। एम्स के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया के संदेश पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पूर्व पीएम को देखने पहुंचे थे।

Atal Bihari Vajpayee Latest News Live Updates

पीएम के अलावा कई केंद्रीय मंत्री भी देर रात एम्स गए थे। वे सभी पूर्व पीएम के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित थे। एम्स ने बुधवार को जारी किए मेडिकल बुलेटिन में बताया था, “पूर्व पीएम पिछले नौ हफ्तों से एम्स में भर्ती हैं। बीते 24 घंटों में उनकी हालत में गिरावट आई है। वह बेहद नाजुक स्थिति में हैं और उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है।”

जानें बीजेपी दिग्गज को: वाजपेयी भारतीय जन संघ के संस्‍थापक सदस्‍यों में से हैं। साल 1980 में उन्होंने जन संघ को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के रूप में नए सिरे से खड़ा किया। वाजपेयी और पार्टी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी की जोड़ी को बीजेपी को राष्‍ट्रीय पटल तक लाने और सफलतापूर्वक केंद्र में सरकार बनाने के लिए आज भी याद किया जाता है। पूर्व पीएम को साल 2015 में भारत के सर्वोच्‍च नागरिक पुरस्‍कार, भारत रत्‍न से सम्‍मानित किया गया था। वह इसके अलावा पद्म विभूषण सम्मान भी पा चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App