scorecardresearch

Atal Bihari Vajpayee: पीएम नरेंद्र मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी को किया नमन, दिग्विजय सिंह का तंज- कृपया उनके राजधर्म को समझें

Atal Bihari Vajpayee Death Anniversary Today, Tribute To Atal Bihari Vajpayee: अटल बिहारी वाजपेयी का निधन 16 अगस्त 2018 को हुआ था।

Atal Bihari Vajpayee: पीएम नरेंद्र मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी को किया नमन, दिग्विजय सिंह का तंज- कृपया उनके राजधर्म को समझें
अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि, Atal Bihari Vajpayee Death Anniversary: पीएम मोदी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई को नमन करते हुए (फोटो सोर्स: @Ani)

Bharat Ratna Atal Bihari Vajpayee Death Anniversary: देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आज चौथी पुण्यतिथि है। अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके समाधि स्थल “सदैव अटल” पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी और उनको नमन किया। वहीं पीएम मोदी के अटल बिहारी वाजपेयी को नमन करने पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने तंज कसा है।

दिग्विजय सिंह ने अटल बिहारी वाजपेयी को नमन करते हुए पीएम मोदी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, “आज हम अटल जी को नमन करते हैं, एक महान इंसान। हमारे वर्तमान प्रधानमंत्री कृपया ‘राजधर्म’ के उनके विचार को समझें।”

दरअसल गुजरात दंगों के बाद पहली बार राज्य के दौरे पर गए तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से जब एक पत्रकार ने पूछा था कि तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए क्या संदेश है? तब उन्होंने कहा था, ‘राजधर्म का पालन करें’।

अटल बिहारी वाजपेयी का निधन स्वतंत्रता दिवस के ठीक एक दिन बाद 16 अगस्त 2018 को हुआ था। अटल बिहारी वाजपेयी ने बीजेपी की स्थापना और उसको खड़ा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह देश के एक निर्विवाद नेता रहें। विपक्ष के लोग भी उनकी काफी इज्जत करते थे। आज भी अटल बिहारी वाजपेयी का नाम लेकर विपक्ष पीएम मोदी की आलोचना करता है। अटल बिहारी वाजपेयी बीजेपी के पहले अध्यक्ष भी थे।

अटल बिहारी वाजपेयी कवितायेँ भी लिखा करते थे और कई बार उन्होंने कविताओं के माध्यम से देश को सन्देश दिया है। उनकी कवितायेँ काफी चर्चित हैं। लोग उसको पढ़ना और सुनना पसंद करते हैं।

बता दें कि वर्ष 1996 में पहली बार अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री बने थे। लेकिन सदन में बहुमत न साबित कर पाने के कारण उनकी सरकार मात्र 13 दिनों में गिर गई थी। इसके बाद वर्ष 1998 में अटल दोबारा पीएम बने, लेकिन 13 महीने बाद 1999 में बहुमत खोने के कारण सरकार दोबारा गिर गई थी। फिर इसके बाद चुनाव हुए और 1999 में ही उनके नेतृत्व में 13 दलों की गठबंधन सरकार बनी, जिसने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया। यह अपना कार्यकाल पूरा करने वाली पहली गैर कांग्रेसी सरकार थी।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट