ताज़ा खबर
 

काशी विश्‍वनाथ मंदिर में लागू हुआ ड्रेस, विदेशी महिलाओं को साड़ी पहनकर करने होंगे दर्शन

काशी में हर रोज 60,000 श्रद्धालु भोलेनाथ के दर्शन करने आते हैं, इनमें से करीब 3000 विदेशी होती हैं।

काशी विश्‍वनाथ, बाबा विश्‍वनाथ, काशी में ड्रेस कोड, विदेशी महिलाएं, विदेशी महिलाएं साड़ी, साड़ी, काशी विश्‍वनाथ प्रबंधन, foreign women, security personnel, Kashi Vishwanath, Varanasi temple, women pilgrims, foreigners, short dresses, foreign women pilgrims, temple administration, foreign women, revealing clothesस्‍थ्‍ाानीय संगठन काफी समय से विदेशी महिलाओं के छोटे कपड़ों पर उठा रहे थे ऐतराज। इसी के बाद मंदिर प्रबंधन ने पुलिस से बात करके यह कदम उठाया है।

भगवान शिव के 11 ज्योतिर्लिंगों में एक काशी विश्वनाथ में अब ड्रेस कोड लागू कर दिया है। मंदिर प्रबंधन ने सुरक्षाकर्मियों को निर्देश दिए हैं कि वे विदेशी महिला श्रद्धालुओं पर नजर और रखें और बिना साड़ी पहने उन्‍हें मंदिर में प्रवेश न करने दें। प्रबंधन ने मंदिर के दो प्रवेश द्वारों पर चेंजिंग रूम बनाए हैं, जहां पर साड़ी भी रखी गई हैं। फिलहाल, 25 साड़ी प्रबंधन ने खुद उप्‍लब्‍ध कराई हैं, जिन्‍हें पहनकर श्रद्धालु बाबा विश्‍वनाथ के दर्शन कर सकते हैं। काशी में हर रोज 60,000 श्रद्धालु भोलेनाथ के दर्शन करने आते हैं, इनमें से करीब 3000 विदेशी होती हैं।

हालांकि, प्रबंधन ने यह साफ नहीं किया है कि यह नियम भारतीय श्रद्धालुओं के लिए भी लागू किया गया या नहीं? क्‍योंकि प्रबंधन के निर्देश में सिर्फ महिला श्रद्धालुओं का कही जिक्र है। काशी में काफी समय से विदेशी महिलाओं के कपड़ों को लेकर चर्चा हो रही थी। स्थानीय संगठन इसे भारतीय संस्कृति के हिसाब से गलत बता रहे थे। इसके बाद शनिवार को कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने मंदिर परिसर का जायजा लिया और मंदिर प्रबंधन ने ड्रेस कोड लागू करने की घोषणा कर दी।

अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी पीएन दि्वेदी ने बताया कि मंदिर परिसर में दर्शन-पूजन के दौरान विदेशी महिलाएं कम कपड़ों में जाती थीं। इसी पर लोगों को ऐतराज था। मंदिर परिसर के काउंटर के पास भी साड़ियों का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा जो भारतीय श्रद्धालु आरती के दौरान हाफ पैंट पहनकर पहुंच जाते हैं, उन पर भी रोक लग सकती है। बेल्ट लगाकर मंदिर में आना पहले से ही बैन है।

Read Also:

RSS प्रमुख बोले- पूरी करो सिंघल की अंतिम इच्‍छा, राम मंदिर निर्माण के लिए ठोस पहल होनी चाहिए

मोदी सरकार में बनेगा राम मंदिर, चार साल अभी बाक़ी हैं: साक्षी महाराज

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 RSS प्रमुख बोले- पूरी करो सिंघल की अंतिम इच्‍छा, राम मंदिर निर्माण के लिए ठोस पहल होनी चाहिए
2 ”तमाशा” को प्रमोट करने के लिए रणबीर-दीपिका ने शुरू किया यह नया तमाशा
3 भारत- पाक को हराकर चैपिंयन बना हरमनप्रीत, जीता एशिया कप
ये पढ़ा क्या?
X