ताज़ा खबर
 

असम में गुणवत्ता जांच में फेल हुआ बिसलेरी का पानी, कंपनी पर लगा एक महीने का बैन

फूड डिपार्टमेंट की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के डिब्बाबंद पानी में 6.25 एमजी फ्लूरॉयड प्रति लीटर पाया गया। वहीं इसकी निर्धारित मात्रा 1 एमजी प्रति लीटर है।

Author नई दिल्ली | Updated: September 16, 2019 8:22 AM
कंपनी के पानी में निर्धारित मानक से अधिक फ्लूरॉयड पाया गया था। (फाइल फोटो)

गुवाहाटी में बिसलेरी का पानी गुणवत्ता जांच में फेल हो गया। इसके बाद असम सरकार की तरफ से कंपनी के कमालपुर प्लांट में पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर पर एक महीने का बैन लगा दिया है। असम सरकार के फूड सेफ्टी कमिश्नर की तरफ से जारी अधिसूचना में इस आशय की जानकारी दी गई।

अधिसूचना के अनुसार कंपनी के डिब्बाबंद पानी में फ्लूरॉयड की मौजदूगी निर्धारित सीमा से अधिक होने के कारण इस पर प्रतिबंध लगाया है। अधिक फ्लूरॉयड को सेहत के लिए हानिकारक बताया गया है। फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड एक्ट 2006 के सेक्शन 3 (1) के अनुसार बिसलेरी के डिब्बाबंद पानी में अधिक मात्रा में फ्लूरॉयड पाया गया जो सेहत के लिए नुकसानदेह है। फूड डिपार्टमेंट के कमिश्नर डॉ. चंद्रिमा बरूआ की तरफ से यह नोटिफिकेशन 12 सितंबर को जारी किया गया।

फूड डिपार्टमेंट की तरफ से पानी की जांच के बारे में रिपोर्ट दी गई थी। रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के डिब्बाबंद पानी में 6.25 एजी फ्लूरॉयड प्रति लीटर पाया गया। वहीं इसकी निर्धारित मात्रा 1 एमजी प्रति लीटर है। इसमें यह भी कहा गया कि बिसलेरी ब्रांड के पानी की जांच फूड सेफ्टी और स्टैंडर्ड के रेगुलेशन 2.10.8 के तहत की गई।

इसमें यह जानकारी दी गई कि जब तक कंपनी की तरफ से शुद्ध पेयजल उपलब्ध नहीं कराया जाता तब तक बैन जारी रहेगा। फूड डिपार्टमेंट ने राज्य के बाहटा में डोलमा इंडस्ट्रीयल एरिया स्थित जीडी एक्वा का पानी के स्टोरेज और डिस्ट्रीब्यूशन पर रोक लगा दी है।

फूड सेफ्टी कमीश्नर डॉ. चंद्रिमा बरूआ की तरफ से कंपनी को इंप्रूवमेंट नोटिस भी जारी किया गया। इसके साथ ही राज्य में एक महीने के लिए कंपनी के उत्पाद के उत्पादन, स्टोरेज, वितरण और बिक्री पर भी रोक लगा दी गई है। इस 30 दिन की अवधि के दौरान मैन्यूफैक्चरर सिर्फ फूड सेफ्टी अधिकारी की मौजूदगी में ही प्रोडक्ट का उत्पादन कर सकेगा। वह भी आगे की जांच और विश्लेषण के लिए होगी।

मालूम हो कि राज्य में इस प्लांट के अतिरिक्त बिसलेरी के चार अन्य प्लांट भी संचालित होते हैं। कंपनी के उन प्लांट के संचालन और प्रोडक्शन पर प्रतिबंध नहीं रहेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कांग्रेस की बैठक में शामिल हुए “द हिंदू” के एन. राम, बोले- चिदंबरम के खिलाफ कोई सबूत नहीं
2 गुजरात: यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स को मिला फरमान, ‘राष्ट्र निर्माण’ के लिए आर्टिकल 370 के खिलाफ रैली में हों शामिल
3 Weather Forecast Today Updates: उत्तर प्रदेश में जमकर बरस सकते हैं बादल, इन इलाकों में हल्की बारिश के आसार