ताज़ा खबर
 
title-bar

महिला अनुयायियों के साथ करता था रासलीला, दूल्हे की तरह सजकर करता था सत्संग, बलात्कार के मामले में नारायण साई दोषी करार

40 वर्षीय नारायण साईं पर आरोप था कि उसने सूरत में रहने वाली दो बहनों के साथ बलात्कार किया।

नारायण साई बलात्कार के मामले में दोषी करार।

आसाराम का बेटा नारायण साई बलात्कार के मामले में दोषी ठहराया गया है। सूरत के सेशल कोर्ट ने नारायण साई को बलात्कार का दोषी माना है। नारायण साई की सजा पर सुनवाई 30 अप्रैल को होगी। 40 वर्षीय नारायण साई पर आरोप था कि उसने सूरत में रहने वाली दो बहनों के साथ बलात्कार किया। जिसके बाद पीड़िताओं के पिता ने अक्टूबर, 2013 को नारायण साई के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी। जिस पर पुलिस ने दिसंबर, 2013 में नारायण साई को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में पीपली इलाके से गिरफ्तार किया गया था। पीड़ित बहनों में से एक ने साई पर आरोप लगाया कि उसने साल 2002 से 2005 के बीच कई बार उसका शारीरिक उत्पीड़न किया। इसी तरह पीड़िताओं में से बड़ी बहन ने भी अपने आरोपों में कहा कि नारायण साई ने साल 1997 से लेकर 2006 के बीच कई बार उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। पुलिस ने इस मामले में नारायण साई के 4 सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया था। नारायण साई के जो 4 सहायक बलात्कार के मामले में आरोपी हैं, उनमें साधिका मोनिका, साधक पवन उर्फ हनुमान का नाम शामिल है।

नारायण साई के बारे में कहा जाता है कि वह अपनी महिला अनुयायियों के साथ रासलीला करता था और डांडिया खेलता था। इंडिया टीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान वह भगवान कृष्ण के वेश में होता था। इसके अलावा सत्संग के दौरान भी नारायण साई काफी सज-धजकर आता था।

बता दें कि बीते साल नारायण साई के पिता आसाराम बापू को भी एक नाबालिग से बलात्कार के मामले में दोषी ठहराया गया था। जोधपुर की अदालत ने इस मामले में आसाराम को उम्रकैद की सनायी थी। आसाराम बापू के देशभर में करीब 400 आश्रम हैं। आसाराम को साल 2013 में मध्य प्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद आसाराम ने कुल 12 बार जमानत की गुहार लगायी, लेकिन हर बार आसाराम की जमानत याचिका खारिज हो गया थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App