ताज़ा खबर
 

दस्तक: ओवैसी ने कांग्रेस व राजद की उम्मीदों पर पानी फेरा

बिहार में ओवैसी की पार्टी के पास केवल एक सीट थी। इसके साथ ही ओवैसी के गठबंधन में शामिल बीएसपी ने भी एक सीट पर जीत हासिल की है। अब आगे का सवाल यह है कि ओवैसी आगे किसके साथ जाएंगे। या फिर वे अकेले चलेंगे। ओवैसी राजग के साथ नहीं जाएंगे। ऐसे में उनके पास ये विकल्प हो सकता है कि वह तेजस्वी की मदद करें। लेकिन तेजस्वी और कांग्रेस ओवैसी की पार्टी को वोटकटवा कहते रहते हैं।

Asaduddin Owaisi, migrent crisis, lockdownAIMIM चीफ और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी। (file)

बिहार चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम ने कमाल किया है। सीमांचल की पांच सीटों पर ओवैसी की पार्टी ने जीत हासिल की है। उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस की पारंपरिक मानी जाने वाली सीटें कब्जाई हैं। अब सवाल उठने लगा है कि ओवैसी जरूरत पड़ने पर किसके साथ जाएंगे। बिहार में अब तक के चुनाव में ओवैसी की पार्टी का यह शानदार प्रदर्शन है।

ओवैसी की पार्टी ने यह कमाल सीमांचल की सीटों पर किया है। सीमांचल इलाके में मुसलिमों में आबादी अच्छी है। अभी तक इन सीटों से कांग्रेस और आरजेडी के उम्मीदवार जीतते रहे हैं। लेकिन इस बार पांसा पलट गया। ओवैसी की पार्टी ने अमौर, जोकीहाट, कोचाधामन, बहादुरगंज और किशनगंज में लाभ अर्जित किया है। सीमांचल के मुसलमानों ने ओवैसी को जमकर वोट किया है।

अभी बिहार में ओवैसी की पार्टी के पास केवल एक सीट थी। इसके साथ ही ओवैसी के गठबंधन में शामिल बीएसपी ने भी एक सीट पर जीत हासिल की है। अब आगे का सवाल यह है कि ओवैसी आगे किसके साथ जाएंगे। या फिर वे अकेले चलेंगे। ओवैसी राजग के साथ नहीं जाएंगे। ऐसे में उनके पास ये विकल्प हो सकता है कि वह तेजस्वी की मदद करें। लेकिन तेजस्वी और कांग्रेस ओवैसी की पार्टी को वोटकटवा कहते रहते हैं।

एआइएमआइएम के उम्मीवदवारों की जीत की खबर के साथ ही ओवैसी के हैदराबाद स्थित निवास के घर जमकर आतिशबाजी हुई। पत्रकारों से बातचीत करते हुए ओवैसी ने कहा कि मैं इस जीत के लिए पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं। इसके अलावा विशेष रूप से उन कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं जिन्होंने बिहार में जाकर प्रचार किया और जिसका परिणाम आज सामने आया है।

ओवैसी ने सीमांचल के लोगों को धन्यवाद कहा और कहा कि हम आपकी सभी समस्याओं को विशेषकर बाढ़ की वजह से होने वाली दिक्कतों को विधानसभा में उठाएंगे और उनके लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे विधायक हमेशा आपकी सेवा में रहेंगे। ओवैसी ने इस जीत के लिए बसपा प्रमुख मायावती को भी उनका साथ देने के लिए शुक्रिया कहा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बदलाव: वामपंथी दलों को मिलेगी जड़ें जमाने में मदद
2 झटका: नीतीश सरकार में मंत्री रहे तीन नेता विधानसभा चुनाव हारे
3 सत्ता समर: नीतीश को तीसरे नंबर पर सिमटा दिया ‘चिराग की लौ’ ने
यह पढ़ा क्या?
X