ताज़ा खबर
 

दादरी हत्याकांड: ओवैसी का नरेंद्र मोदी पर हमला, कहा ‘धर्म के नाम पर हुई हत्या’

असदुद्दीन ओवैसी ने आरोप लगाया कि दादरी में मृतक को उसके धर्म की वजह से उसे निशाना बनाया गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘‘खामोशी’’..

Author दादरी | Published on: October 2, 2015 4:53 PM
Asaduddin Owaisi, Dadri, Dadri Murder, Dadri Killing, Muslim, Narendra Modi, असदुद्दीन ओवैसी, दादरी, दादरी हत्याकांड, धर्म, नरेंद्र मोदीओवैसी ने कहा, ‘‘यह मांस को लेकर हुआ हमला नहीं था। एक पार्टी की नफरत की राजनीति करने के कारण यह हत्या हुयी। यह सुनियोजित, संगठित तौर पर की गयी हत्या थी। यह एक दुर्घटना नहीं हो सकती।’’ (पीटीआई फाइल फोटो)

गोमांस खाने की अफवाह के बाद भीड़ द्वारा एक व्यक्ति की हत्या के बाद उसके परिवार से मिलने पहुंचे विवादास्पद एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने आरोप लगाया कि उसके धर्म की वजह से उसे निशाना बनाया गया और प्रधानमंत्री की ‘‘खामोशी’’ पर सवाल उठाया।

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख ओवैसी ने मृतक इखलाक की पत्नी से आज सुबह भेंट की और आरोप लगाया कि यह एक सुनियोजित हत्या थी। हैदराबाद के सांसद ने कहा, ‘‘यह मांस को लेकर हुआ हमला नहीं था। एक पार्टी की नफरत की राजनीति करने के कारण यह हत्या हुयी। यह सुनियोजित, संगठित तौर पर की गयी हत्या थी। यह एक दुर्घटना नहीं हो सकती।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह विचार है जो धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है, यह भारत के भाईचारे के खिलाफ है। यह मुसलमानों को संदेह की नजर से देखता है।’’

ओवैसी ने मुद्दे पर खामोशी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर प्रधानमंत्री ‘‘बहुलतावाद और कानून कायम रखने में’’ विश्वास रखते हैं तो उन्हें कम से कम एक ट्वीट में शोक जताना चाहिए था।

उन्होंने कहा, ‘‘हम उम्मीद कर रहे थे कि प्रधानमंत्री कम से कम सरताज (मृतक के बेटे) से शोक संवेदना जाहिर करेंगे और इसकी निंदा करेंगे। हम उम्मीद कर रहे थे कि सबका साथ सबका विकास की बात कहने वाले प्रधानमंत्री को कम से एक ट्वीट में संवेदना जाहिर करना चाहिए था।’’

एआईएमआईएम नेता ने केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद महेश शर्मा की भी आलोचना की जिन्होंने हमले को एक दुर्घटना करार दिया। ओवैसी ने कहा, ‘‘महेश शर्मा देश के संस्कृति मंत्री हैं और दुर्भाग्यपूर्ण है कि संविधान के नाम पर पद की शपथ लेने वाले मंत्री को स्पष्ट तौर पर घटना की निंदा करने का साहस और बौद्धिक समझदारी नहीं है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘वह और उनके प्रधानमंत्री कहते हैं सबका साथ सबका विकास, फिर ऐसी घटनाएं क्यों होती है। जो बोलते हैं उस पर अमल करना चाहिए।’’

उन्होंने समाजवादी पार्टी की सरकार पर भी निशाना साधते हुए हमलावरों को पकड़ने की जगह मांस के एक टुकड़े की फॉरेंसिक जांच कराने और घटना के शिकार व्यक्ति से आरोपी की तरह बर्ताव करने का आरोप लगाया।

ओवैसी ने कहा, ‘‘उनके दिमाग में इतना जहर भरा है कि एक व्यक्ति जिसकी मौत हो गयी उससे पीड़ित की तरह बर्ताव करने के बजाए वे उससे आरोपी की तरह सलूक कर रहे हैं।’’

उन्होंने मांग की कि आरोपी पर आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाए और तय समय के भीतर मुकदमा संपन्न हो।

ओवैसी ने कहा कि उन्हें डर है कि समाजवादी पार्टी की सरकार आरोपियों को छोड़ ना दे जैसा कि मुजफ्फरनगर दंगे के बाद हुआ था।

सोमवार की रात मांस खाने की अफवाह के बाद इखलाक की पीटकर हत्या कर दी गयी और उसका 22 वर्षीय बेटा दानिश गंभीर रूप से घायल है। उत्तरप्रदेश में गोवध प्रतिबंधित है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जलवायु परिवर्तन के पाप के लिए भारत जिम्मेदार नहीं: नरेंद्र मोदी
2 अशोक सिंघल को जन्मदिन पर ‘राममंदिर’ का तोहफा दें नरेंद्र मोदी: डालमिया
3 दादरी कांड को लेकर आजम खान ने भाजपा को घेरा
ये पढ़ा क्या?
X