ताज़ा खबर
 

हिंदु राष्ट्र बनाने में राष्ट्रपति पद के लिए अच्छी पसंद होंगे मोहन भागवत, जानिए कैसे

शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत राष्ट्रपति पद के लिए अच्छी पसंद होंगे।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत राष्ट्रपति पद के लिए अच्छी पसंद होंगे।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत राष्ट्रपति पद के लिए अच्छी पसंद होंगे। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, यह देश में शीर्षतम पद है। बेदाग छवि वाले किसी व्यक्ति को इस पर आसीन होना चाहिए। हमने सुना है कि राष्ट्रपति पद के लिए भागवत के नाम पर विचार चल रहा है। उन्होंने कहा, अगर भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना है तो भागवत राष्ट्रपति के पद के लिए अच्छी पसंद होंगे। लेकिन उनकी उम्मीदवारी का समर्थन करने का फैसला उद्धवजी करेंगे। जब उनसे पूछा गया कि क्या राष्ट्रपति चुनाव के वास्ते रणनीति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से दिए जाने वाले भोज में उद्धव ठाकरे पहुंचेंगे तो उन्होंने यह कहते हुए यह सवाल टाल दिया कि मातोश्री में लजीज खाना पकता है। शिवसेना नेता ने कहा, पिछले दो राष्ट्रपति चुनाव में बाला साहब धारा के विपरीत गए और उन्होंने वह किया जो राष्ट्रहित में था। उस समय भी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार चुनाव चर्चा के लिए मातोश्री पहुंचे थे। राउत ने कहा, जो लोग वोट चाहते हैं वे मातोश्री आ सकते हैं। हम चर्चा के लिए तैयार हैं। मातोश्री में लजीज खाना भी पकता है।

आपको बता दें कि नए राष्ट्रपति का चुनाव इस साल जुलाई में किया जाएगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या राष्ट्रपति चुनाव के वास्ते रणनीति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिये जाने वाले भोज में उद्धव ठाकरे पहुंचेंगे तो उन्होंने यह कहते हुए यह सवाल टाल दिया कि मातोश्री में लजीज खाना पकता है। शिवसेना नेता ने कहा, ‘‘पिछले दो राष्ट्रपति चुनाव में बालासाहब धारा के विपरीत गए और उन्होंने वह किया जो राष्ट्रहित में था। उस समय भी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार चुनाव चर्चा के लिए मातोश्री पहुंचे थे।’’ राउत ने कहा, ‘‘जो लोग वोट चाहते हैं वे मातोश्री आ सकते हैं। हम चर्चा के लिए तैयार हैं। मातोश्री में लजीज खाना भी पकता है। इससे पहले खबरें आई थी कि लाल कृष्ण आडवाणी को राष्ट्रपति बनाया जा सकता है। एक रिपोर्ट में कहा गया कि 8 मार्च को सोमनाथ में एक बैठक बुलाई गई थी, जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी के अलावा आडवाणी को भी बुलाया गया था।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले- "असहिष्णु भारतीयों के लिए देश में कोई स्थान नहीं, वह राज्य असभ्य जहां महिलाओं का सम्मान नहीं"

मोहन भागवत ने गौ रक्षकों का समर्थन किया, कहा- ‘गौ रक्षा संविधान का अभिन्न हिस्सा है’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App