ताज़ा खबर
 

‘अभी हमारे पास ऑक्सीजन की कमी से मौतों के आंकड़े नहीं’, भाजपा के आरोपों पर बोले मनीष सिसोदिया

भाजपा प्रवक्ता बोले- "किसी ने भी नहीं कहा कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत हुई है। इसलिए इसके आंकड़े नहीं हैं। क्या ये डेटा केंद्र ने बनाया? नहीं, राज्यों ने नहीं भेजा।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: July 21, 2021 3:24 PM
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के आरोपों पर दिल्ली के डिप्टी सीएम ने दिया जवाब।

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर केंद्र सरकार के राज्यसभा में दिए बयान पर विपक्ष भड़क गया है। कांग्रेस से लेकर आम आदमी पार्टी तक ने भाजपा पर हमला किया है। इस बीच बुधवार को पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने विपक्ष के आरोपों का जवाब दिया। उन्होंने ऑक्सीजन से हुई मौतों का रिकॉर्ड न रखने के लिए राज्यों को लताड़ लगाई और कहा कि इसका डेटा राज्यों को भेजना था, पर इससे जुड़ी जानकारी नहीं दी गई। पात्रा के इन सवालों पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जवाब दिया। हालांकि, एक जवाब में उन्होंने माना कि अब तक दिल्ली सरकार के पास ऑक्सीजन से हुई मौतों की जानकारी नहीं है।

क्या बोले संबित पात्रा?: संबित पात्रा ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्र सरकार का पक्ष रखते हुए कहा, “केंद्र कह रहा है कि स्वास्थ्य राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों का विषय है और हम केवल जो आंकड़े राज्य भेजते हैं उसे इकट्ठा करते हैं। संबित ने कहा, “केंद्र कह रहा है कि हमने एक गाइडलाइन जारी किया है जिसके आधार पर राज्य/केंद्रशासित प्रदेश अपने मौत के आंकड़ों को रिपोर्ट कर सकें। लेकिन किसी भी राज्य/केंद्रशासित प्रदेश ने ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई हो इस पर आंकड़ा नहीं भेजा।”

भाजपा प्रवक्ता बोले- “किसी ने भी नहीं कहा कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत हुई है। इसलिए इसके आंकड़े नहीं हैं। क्या ये डेटा केंद्र ने बनाया? नहीं, राज्यों ने नहीं भेजा। पात्रा ने दिल्ली सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा, “अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया बताएं कि क्या आपकी सरकार ने केंद्र को जो आंकड़े दिए हैं उसमें से एक भी मरीज की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई है ऐसा लिखकर दिया है क्या?”

सिसोदिया बोले- भाजपा ने मौतों की जांच के लिए कमेटी नहीं गठित करने दी: दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा, “मोदी सरकार ने संसद में सफेद झूठ बोला। पूरे देश में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई। जबकि दूसरी लहर में केंद्र से ऑक्सीजन का मिसमैनेजमेंट हुआ। जिसकी वजह से पूरे देश में त्राहि-त्राहि मची थी। कोई बड़ी वजह नहीं है की ऑक्सीजन की कमी के कारण बहुत सारी जानें गई हो।

हालांकि, इसी बीच जब उनसे पूछा गया कि क्या राज्य सरकार ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों की कोई रिपोर्ट केंद्र को दी है, तो सिसोदिया ने कहा कि अभी सरकार के पास कोई डेटा नहीं है। सिसोदिया ने आगे कहा, “जब केंद्र सरकार कमेटी गठित कर मौतों की जांच करने देगी, तब ही साफ होगा कि कौन सी मौतें ऑक्सीजन की कमी से हुई। आप जान गंवाने वाले मरीजों के माता-पिता से सच्चाई पूछिए, डॉक्टरों से पूछिए।

सिसोदिया का आरोप- मोदी सरकार ने देश को ऑक्सीजन संकट में डाला: दिल्ली डिप्टी सीएम ने आगे कहा, “आज संबित पात्रा ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों की जिम्मेदारी लेने की जगह केजरीवाल जी, गैर-भाजपा शासित राज्यों को गाली देने लगे। 100 साल बाद चर्चा होगी-जब दुनिया COVID से जूझ रही थी तब मोदी सरकार देश को ऑक्सीजन संकट में धकेल चुकी थी।

Next Stories
1 किसानों ने सांसदों को जारी किया ‘व्हिप’, राकेश टिकैत बोले- समर्थन करने वाले दल कैसे उठाएंगे आवाज, हम देख रहे हैं
2 इटैलियन में ट्वीट कर गिरिराज ने दिया राहुल गांधी को जवाब, लिखा- राजकुमार के पास दिमाग की कमी
3 जासूसीः भाजपा सांसद की बात पर बोले दिग्विजय, जो बात मोदी-शाह से पूछ रहे, आप ही पता लगा सकते हैं
ये पढ़ा क्या?
X