ताज़ा खबर
 

आखिरकार शर्मसार हुए अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती बुधवार को दूसरे दिन भी गिरफ्तारी से बचते रहे। पुलिस ने उन्हें तलाशती रही। वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें कड़ा संदेश देते हुए कहा कि उनका ऐसा करना पार्टी के लिए शर्मिंदगी का कारण बन रहा है।

Author नई दिल्ली | September 24, 2015 9:47 AM
अरविंद केजरीवाल।

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती बुधवार को दूसरे दिन भी गिरफ्तारी से बचते रहे। पुलिस ने उन्हें तलाशती रही। वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें कड़ा संदेश देते हुए कहा कि उनका ऐसा करना पार्टी के लिए शर्मिंदगी का कारण बन रहा है। उन्हें आत्मसमर्पण कर पुलिस के साथ सहयोग करना चाहिए। भारती के खिलाफ उनकी पत्नी लिपिका मित्रा ने घरेलू हिंसा और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया है। हाई कोर्ट की ओर से अग्रिम जमानत देने से इनकार किए जाने के बाद से पुलिस भारती की तलाश कर रही है।

सरकार में अपने पूर्व सहयोगी से जुड़े मामले पर चुप्पी तोड़ते हुए केजरीवाल ने भारती के लापता होने पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह पुलिस से क्यों भाग रहे हैं और जेल जाने से क्यों डर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोमनाथ को समर्पण कर देना चाहिए। वह भाग क्यों रहे हैं? जेल जाने से वे इतना डर क्यों रहे हैं? अब तो वह पार्टी और उनके परिवार के लिए शर्मिंदगी की वजह बन गए हैं। भारती का संदर्भ देते हुए केजरीवाल ने कहा ‘उन्हें पुलिस के साथ सहयोग करना चाहिए।’

संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण पश्चिम) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि पुलिस की कई टीम मालवीय नगर के विधायक को गिरफ्तार करने के लिए फरीदाबाद और गुड़गांव सहित राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कई स्थानों पर छापे मार रही हैं। अदालत की व्यवस्था के बाद पुलिस ने मंगलवार को भारती के आवास और दफ्तर सहित कई जगहों पर छापे मारे थे लेकिन उन्हें पकड़ नहीं सकी। आज भी दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर छापे मारे गए।

पुलिस भारती का अता पता जानने की कोशिश में मंगलवार शाम उनके भाई लोकनाथ भारती और निजी सचिव को अपने साथ ले गई थी, जिन्हें बाद में रात में छोड़ दिया गया। पुलिस ने बुधवार को भारती के दो और करीबी सहयोगियों को हिरासत में लिया। पाठक ने कहा कि हम भारती के बारे में पता लगाने के लिए बुधवार सुबह जिन दो लोगों को अपने साथ ले गए थे, उनसे पूछताछ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारती की कथित तौर पर मदद के लिए करीब 12 लोग जांच के घेरे में हैं।

उन्होंने कहा कि पिछली बार भारती को शरण देने वाले आप कार्यकर्ता को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया है। पिछले सप्ताह एक स्थानीय अदालत ने इस मामले में उनकी अग्रिम जमानत खारिज कर दी थी। भारती के नदारद होने को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए आप पार्टी के शीर्ष नेताओं ने उन्हें पुलिस के साथ सहयोग करने को कहा। संयुक्त पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने पुष्ठि की कि लोकनाथ और एक अन्य व्यक्ति को बीती रात ही छोड़ दिया गया था। सोमनाथ भारती के निजी सचिव गुरप्रीत को विधायक के मालवीय नगर स्थित उनके कार्यालय से पकड़ा गया था जबकि उनके भाई को उनके वसंत कुंज स्थित आवास से पकड़ा गया था। दोनों को द्वारका उत्तर ले जाकर उनके विधायक के ठहरने के स्थान के बारे में पूछा गया।

इस बीच भारती को आत्मसमर्पण की सलाह देने पर लिपिका ने केजरीवाल को धन्यवाद दिया और कहा कि हालांकि मुख्यमंत्री ने काफी समय लिया लेकिन यह अच्छी बात है कि वह अंतत: बोले। मैं उनकी शुक्रगुजार हूं। हालांकि उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि ‘आप’ ने अगस्त में दिल्ली विधानसभा के एक दिवसीय विशेष सत्र में भारती को महिला सशक्तीकरण के मुद्दे पर बोलने का अवसर क्यों दिया था। लिपिका ने कहा कि वे उनका बचाव कर रहे थे और उन्होंने उन्हें ऐसे मुद्दों पर बोलने का अवसर दिया, जिससे मैं निश्चित ही हैरान हूं कि मुख्यमंत्री ने यह रुख अपनाया। उन्हें पहले मुख्यमंत्री की तरह और बाद में मित्र की तरह व्यवहार करना चाहिए।

यह बताए जाने पर कि भारती गिरफ्तारी से बच रहे हैं और वह सुप्रीम कोर्ट में याचिका दे सकते हैं, लिपिका ने कहा कि उन्हें जो कोई भी ऐसी सलाह दे रहा है, वह बेशक उनका शुभचिंतक नहीं है। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस वह सब कुछ कर रही है, जो वह कर सकती है। उन्हें सामने आना चाहिए और पुलिस के साथ सहयोग करना चाहिए। पार्टी नेतृत्व कहता रहा है कि दिल्ली पुलिस उसे निशाना बनाती रही है। बहरहाल, भारती के गायब हो जाने को लेकर पार्टी नेतृत्व ने कड़ा रुख जाहिर किया है। आप नेता आशुतोष ने बुधवार को कहा कि पुलिस इस मामले में अनावश्यक रूप से अत्यधिक दिलचस्पी दिखा रही है, लेकिन भारती को आत्मसमर्पण कर अपना पक्ष रखना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App