ताज़ा खबर
 

अरविंद केजरीवाल का मोम का पुतला लगाने की तैयारी, ‘मैडम तुसाद’ म्‍यूजियम ने भेजा निमंत्रण

दिल्‍ली सरकार ने मैडम तुसाद म्‍यूजियम से न्‍योता मिलने की बात को कबूल किया है। कल्चर मिनिस्टर कपिल मिश्रा ने कहा, 'दिल्ली घूमने आने वाले टूरिस्ट्स के लिए म्यूजियम आकर्षण का केंद्र रहेगा। यहां लोग केजरीवाल की भी प्रतिमा देख सकेंगे।'

Author नई दिल्‍ली | Updated: January 23, 2016 5:41 PM
मैडम तुसाद म्‍यूजियम में मोम का पुतला लगाए जाने से पहले ली जाएगी अरविंद केजरीवाल की मंजूरी।

मैडम तुसाद वैक्स म्यूजियम ने सीएम अरविंद केजरीवाल को निमंत्रण भेजा है। ‘इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के मुताबिक अगर केजरीवाल मान जाते हैं तो वह पहले भारतीय सीएम होंगे, जिनका मोम का पुतला मैडम तुसाद म्‍यूजियम में लगाया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, लंदन के मैडम तुसाद म्यूजियम के इंडिया पार्टनर विजक्राफ्ट एंटरटेनमेंट इंटरनेशनल (डब्ल्यूईआई) ने अरविंद केजरीवाल को 11 जनवरी को निमंत्रण भेजा। अगले साल दिल्ली में मैडम तुसाद म्यूजियम खोला जाना है। इसको लेकर म्यूजियम की क्रिएटिव टीम फरवरी में केजरीवाल के स्टैच्यू के लिए नाप लेने का प्लान कर रही है। यदि केजरीवाल का पुतला बनता है तो उसे दिल्ली के ही मैडम तुसाद वैक्स म्यूजियम में रखा जाएगा। डब्ल्यूईआई के लेटर के मुताबिक, ‘हम आम आदमी पार्टी चीफ का लाइफ साइज वैक्स फिगर (मोम का पुतला) बनाना चाहते हैं, जिसे दुनियाभर में मौजूद तुसाद म्यूजियम्‍स में रखा जाएगा।’ डब्ल्यूईआई ने केजरीवाल से रिक्वेस्ट की है कि वे दुनिया की नामी-गिरामी हस्तियों से जुड़ने के लिए सहमति दें। लेटर में लिखा है कि म्यूजियम, केजरीवाल के पॉलिटिक्स में आउटस्टेंडिंग काम के लिए उनका सम्मान करना चाहता है।

दूसरी ओर दिल्‍ली सरकार ने मैडम तुसाद म्‍यूजियम से न्‍योता मिलने की बात को कबूल किया है। दिल्ली के कल्चर मिनिस्टर कपिल मिश्रा के मुताबिक ‘दिल्ली घूमने आने वाले टूरिस्ट्स के लिए मैडम तुसाद म्यूजियम आकर्षण का केंद्र रहेगा। यहां लोग अरविंद केजरीवाल की भी प्रतिमा देख सकेंगे।’ सूत्रों के मुताबिक, जमीन और लाइसेंस के लिए दिल्ली सरकार को ही मंजूरी देनी है।

डब्ल्यूईआई डायरेक्टर आंद्रे टिमिन्स के मुताबिक, 2017 तक मैडम तुसाद म्यूजियम दिल्ली आ रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories