दिल्ली के स्कूलों में दी जाएगी ‘राष्ट्र प्रेम’ की शिक्षा, अलग विषय के तौर पर पढ़ाई जाएगी ‘देशभक्ति’

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी देशभक्ति पाठ्यक्रम को लेकर कहा कि यह पाठ्यक्रम हमारे बच्चों के अंदर देशभक्ति की भावना को मजबूत कर उन्हें एक ज़िम्मेदार नागरिक बनाएगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 अगस्त की पूर्व संध्या पर इस सिलेबस को जारी करते हुए कहा कि आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ पर देशभक्ति पाठ्यक्रम दिल्ली के स्कूलों में लागू होने के लिए तैयार है। (फोटो- ट्विटर/ @AamAadmiParty)

दिल्ली सरकार के स्कूलों में अब बच्चे राष्ट्रप्रेम सीखेंगे। दिल्ली सरकार ने स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को देशभक्ति सिखाने के लिए अलग से एक विषय को पढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके लिए दिल्ली सरकार ने सिलेबस भी तैयार किया है। दिल्ली सरकार ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर देशभक्ति पाठ्यक्रम को हरी झंडी दे दी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 अगस्त की पूर्व संध्या पर इस सिलेबस को जारी करते हुए कहा कि आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ पर देशभक्ति पाठ्यक्रम दिल्ली के स्कूलों में लागू होने के लिए तैयार है। बच्चों के मन में देश के प्रति प्यार और देशभक्ति ही उनको आज़ादी के हमारे दिवानों के सपनों का भारत बनाने के लिए प्रेरित करेगी।

दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए इस देशभक्ति पाठ्यक्रम का तीन प्राथमिक थीम निर्धारित किया गया है। इसमें छात्रों को संवैधानिक मूल्यों, बहुलता और विविधता की जानकारी देना, ईमानदारी और सहानुभूति का भाव बच्चों के अंदर पैदा करना एवं अन्याय के खिलाफ खड़े होन के लिए सिखाना शामिल है।  

वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी देशभक्ति पाठ्यक्रम को लेकर कहा कि देशभक्ति पाठ्यक्रम हमारे बच्चों के अंदर देशभक्ति की भावना को मजबूत कर उन्हें एक ज़िम्मेदार नागरिक बनाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की स्वीकृति के बाद अब देशभक्ति पाठ्यक्रम दिल्ली के स्कूलों में एक विषय के तौर पर शामिल होने के लिए तैयार है। 

 

दिल्ली सरकार की तरफ से जारी किए गए इस पाठ्यक्रम को पिछले दिनों राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद ने भी मंजूरी दे दी थी। देशभक्ति पाठ्यक्रम समिति की अनुशंसा के आधार पर एससीईआरटी द्वारा यह देशभक्ति पाठ्यक्रम तैयार किया गया। इस बार के बजट सत्र के दौरान मनीष सिसोदिया ने देशभक्ति पाठ्यक्रम लागू करने की घोषणा की थी। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अंदर देशभक्ति की भावना पैदा करने के लिए देशभक्ति पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा।