ताज़ा खबर
 

अरुणाचल प्रदेश के नए मुख्‍यमंत्री बने पेमा खांडु, राज्‍यपाल ने माना कांग्रेस का बहुमत का दावा

60 सदस्‍यीय विधानसभा में वर्तमान में केवल 58 विधायक हैं क्‍योंकि दो विधायकों ने इस्‍तीफा दे दिया है।

अरुणाचल प्रदेश में नबाम तुकी (फोटो में) की जगह पेमा खांडु को कांग्रेस विधायक दल का नेता बनाया गया है।

अरुणाचल प्रदेश में राजनीतिक संकट सुलझ गया हैै। पेमा खांडु राज्‍य के नए मुख्‍यमंत्री चुने गए हैं। कांग्रेस ने 44 विधायकों के समर्थन का दावा किया था जिसे राज्‍यपाल ने मान लिया। इसके चलते विश्‍वासमत नहीं कराया गया। इससे पहले कांग्रेस ने नबाम टुकी को सीएम पद से हटाकर खांडु को विधायक दल का नेता चुन लिया था। इसके चलते असंतुष्‍ट विधायक भी कांग्रेस के सााथ आ गए थे। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट द्वारा राष्‍ट्रपति शासन लगाने को गलत ठहराए जाने के बाद अरुणाचल प्रदेश में विश्‍वासमत किया जाना था। टुकी ने इसके लिए राज्‍यपाल से 10 दिन का समय मांगा था लेकिन गवर्नर ने शनिवार को ही विश्‍वासमत साबित करने को कहा।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस के बागी कालिखो पुल की सरकार हट गई थी। अरुणाचल की राजधानी ईटानगर में विधानसभा के आसपास धारा 144 लगाई हुई थी। पेमा खांडु टुकी सरकार में पर्यटन मंत्री थे।  विश्‍वासमत से पहले कांग्रेस विधायक दल की बैठक में असंतुष्‍ट विधायक भी शामिल हुए हैं। पार्टी के 20 नाराज विधायकों का कहना है कि अगर नेतृत्‍व में बदलाव किया जाए तो वे समर्थन देने को तैयार हैं।

60 सदस्‍यीय विधानसभा में वर्तमान में केवल 58 विधायक हैं क्‍योंकि दो विधायकों ने इस्‍तीफा दे दिया है। कांग्रेस के पास केवल 15 विधायकों का समर्थन है। 20 विधायकों के साथ आने पर यह आंकड़ा 35 हो जाएगा जो कि बहुमत से काफी ज्‍यादा होगा। इधर, कालिखो पुल का दावा है कि उनके पास 43 विधायकों का समर्थन है। इनमें 11 भाजपा और दो निर्दलीय विधायक शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App