ताज़ा खबर
 

उरी हमले के पीछे के लोगों को भुगतना होगा अंजाम, पाक की मदद से होती है आतंकी घटनाएं: अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ‘आजादी के बाद से पड़ोसी पाकिस्तान ने यह कभी स्वीकार नहीं कर सका कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है।'
Author जालंधर | September 18, 2016 19:46 pm
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली। (पीटीआई फाइल फोटो)

जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि जो भी इस वीभत्स घटना के पीछे हैं उन्हें इसका परिणाम भुगतना होगा और ‘हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग थलग करने के लिए कूटनीतिक प्रयास’ शुरू करेंगे। यहां भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के साथ आगामी चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर बैठक करने आये वित्त मंत्री अरूण जेटली ने रविवार (18 सितंबर) शाम संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘पंजाब के पठानकोट के बाद अब उरी में आतंकवादी हमले हुए हैं। ये आतंकी हमले देश की एकता तथा सुरक्षा को पडोसी की तरफ से मिली एक बडी चुनौती है।’ वित्त मंत्री ने कहा, ‘आजादी के बाद से पड़ोसी पाकिस्तान ने यह कभी स्वीकार नहीं कर सका कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और यही कारण है कि उनके समर्थन से देश में आतंकवाद की घटना होती रहती है।’

उन्होंने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को पूरी तरह अलग थलग करने के लिए अब कूटनीतिक प्रयास किया जाएगा ताकि उनका सच दुनिया के सामने आए। जिन लोगों ने हमले को अंजाम दिया है उन लोगों को इसका परिणाम और सजा भुगतना होगा।’ उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में आज सुबह एक सैन्य अड्डे पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया जिससे इसमें 17 जवान शहीद हो गए हैं और 19 अन्य घायल हो गए हैं। घायलों में कई लोगों की हालत नाजुक है।

जेटली ने कहा, ‘उरी में सैन्य अड्डे पर हुए आज के आतंकवादी हमले बाद अब हमें ओर सुरक्षा बलों को और चौकन्ना तथा और अधिक तैयार रहना चाहिए ताकि फिर किसी ऐसे हमले को अंजाम नहीं दिया सके, क्योंकि सीमा पार से ताकतें अस्थिरता पैदा करने के लिए आतंकवादी हमलों का सहारा लेती रहती हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इस हमले को बिना राजनीतिक रंग दिये देश के प्रत्येक नागरिक को एक साथ इसकी निंदा करनी चाहिए। हमारे सुरक्षा बलों ने पहले भी ऐसी ताकतों को जवाब दिया है और अब भी उन्हें माकूल जवाब दिया जाएगा।’

पाक की ओर से परमाणु युद्ध करने की धमकी के बारे में जेटली ने कहा, ‘पाकिस्तान का यह बयान बिल्कुल गैर जिम्मेदराना है। दुनिया का कोई भी हिस्सा (देश) इसको स्वीकार नहीं कर सकता है।’ यह पूछने पर कि हमला संकेत करता है कि सुरक्षा व्यवस्था में कोई न कोई चूक है जिसके कारण ऐसा हुआ है जेटली ने कहा, ‘मैंने पहले ही कहा है कि ये सब हमारी सुरक्षा और एकता के समक्ष पडोसी की ओर से पेश की गई एक चुनौती है और पूर्व कांग्रेस की सरकार से मौजूदा सरकार बहुत बेहतर है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.