ताज़ा खबर
 

बिहार जाते वक्त इस नेता के लिए हर बार दिल्ली से रसगुल्ले लेकर जाते थे अरुण जेटली

Arun Jaitley, BJP: दिल्ली की हर यात्रा पर, जेटली नीतीश को राजधानी की एक प्रसिद्ध दुकान, गोपाला से अपने पसंदीदा स्पंजी रसगुल्ले खिलते थे। इतना ही नहीं जब भी जेटली पटना जाते थे वे नीतीश के लिए रसगुल्ले लेकर जाते थे।

Arun Jaitley Demise News: पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली। (AP Photo/Jose Luis Magana, File)

Arun Jaitley, BJP:  पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता अरुण जेटली का शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे निधन हो गया। अरुण जेटली बीते कई दिनों से नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें एम्स में लाइफ सपोर्ट पर कई दिनों तक रखा गया था। जेटली ने अपने जीवन में बहुत से पद संभाले। जेटली कार्यकर्ता, वकील, राजनीतिज्ञ, क्रिकेट प्रशासक, मंत्री और एक अच्छे मित्र भी थे।

दिल्ली में जन्मे भारतीय जनता पार्टी के इस नेता ने संसद और राजनीतिक युद्ध के मैदान में अपने संगठन के लिए मुख्य संकटमोचन की भूमिका निभाई। जेटली अपनी दोस्ती के लिए भी जाने जाते थे। 2005 में उन्होंने भाजपा को जनता दल (यूनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार को गठबंधन का मुख्यमंत्री चेहरा स्वीकार करने के लिए मनाया था। इसके बाद नीतीश और जेटली अच्छे मित्र बन गए थे। दिल्ली की हर यात्रा पर, जेटली नीतीश को राजधानी की एक प्रसिद्ध दुकान, गोपाला से अपने पसंदीदा स्पंजी रसगुल्ले खिलते थे। इतना ही नहीं जब भी जेटली पटना जाते थे वे नीतीश के लिए रसगुल्ले लेकर जाते थे।

उनकी मौत पर नीतीश कुमार ने ट्वीट कर लिखा “भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन अत्यंत दुखद है। उन्होंने अपने राजनीतिक और व्यक्तिगत मूल्यों के माध्यम से सार्वजनिक जीवन में महान ऊंचाइयों को प्राप्त किया। उनकी आत्मा को शांति मिले।” गौरतलब है कि मई 2018 में जेटली का अमेरिका में किडनी प्रत्यारोपण हुआ था। इसके बाद जेटली इलाज के लिए अमेरिका भी गए थे। लोकसभा चुनाव में भाग न लेने और मंत्रालय का प्रभार छोड़ने के पीछे तबीयत ही वजह रही।

Next Stories
1 IRCTC Indian Railways: पटरियों की मरम्मत की वजह से ट्रेनें रद्द, कई का रूट हुआ डायवर्ट, देखें पूरी LIST
2 Assam: ‘मेरी 70 साल की मां को वे जेल भेजेंगे? अच्छा है कि जहर दे दूं’, NRC की डेडलाइन नजदीक, खौफ में जी रहे लोग
3 PM Modi Mann Ki Baat: बापू की 150वीं जयंती पर प्लास्टिक के खिलाफ होगा नया जन आंदोलन
ये पढ़ा क्या?
X