ताज़ा खबर
 

AIIMS में अरुण जेटली की हालत नाजुक, जानिए कौन से वॉर्ड में रखा गया है पूर्व FM को

Arun Jaitley Health News Highlights: हालांकि, तब से अस्पताल ने उनका कोई मेडिकल बुलेटिन नहीं जारी किया है। पर एम्स से जुड़े सूत्रों की मानें तो जेटली की हालत में खासा सुधार नहीं आया है। सोमवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी बेटी प्रतिभा आडवाणी संग उनका हाल जानने एम्स पहुंचे थे।

Arun Jaitley Health News Updates: पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः रेणुका पुरी)

पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली की हालत इन दिनों बेहद नाजुक है। उन्हें राजधानी नई दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। नौ अगस्त, 2019 को सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी महसूस करने के बाद उन्हें अस्पताल लाया गया था। मंगलवार को केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रकाश जावड़ेकर भी जेटली का हालचाल जानने पहुंचे।

हालांकि, तब से अस्पताल ने उनका कोई मेडिकल बुलेटिन नहीं जारी किया है। पर एम्स से जुड़े सूत्रों की मानें तो जेटली की हालत में खासा सुधार नहीं आया है। सोमवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी बेटी प्रतिभा आडवाणी संग उनका हाल जानने एम्स पहुंचे थे।

आडवाणी के अलावा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित कई नेता पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे थे।

एम्स के सूत्रों ने आगे बताया- जेटली फिलहाल कार्डियो-न्यूरो सेंटर में एक्सट्रॉकोर्पोरियल मेम्ब्रेन ऑक्सीजनेशन (ECMO) और इंट्रा-एओर्टिक बैलून पंप (IABP) सपोर्ट पर हैं। ईसीएमओ पर मरीज को तब रखा जाता है जब दिल, फेफड़े ठीक से काम नहीं करते हैं और वेंटिलेटर का भी फायदा नहीं होता है। ECMO के जरिए मरीज के शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाया जाता है।

Live Blog

Highlights

    07:21 (IST)21 Aug 2019
    हालत में नहीं आया कोई सुधार

    अरुण जेटली को फिलहाल जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है, लेकिन फिलहाल उनकी सेहत में कोई सुधार आता नहीं दिख रहा है। 

    03:00 (IST)21 Aug 2019
    विपक्ष के नेताओं ने ली जेटली के स्वास्थ की जानकारी

    केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, रामविलास पासवान, जितेंद्र सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित कई नेता पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए रविवार को एम्स गये थे। 

    00:37 (IST)21 Aug 2019
    मंगलवार को जेटली से मिलने पहुंचेे ये नेता

    केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रकाश जावड़ेकर सहित कई नेताओं ने मंगलवार को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्था (एम्स) जाकर पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली की सेहत की जानकारी ली। जेटल को नौ अगस्त को सांस लेने में परेशानी और बेचैनी होने की शिकायत के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था। सोमवार को भाजपा के वयोवृद्ध नेता लाल कृष्ण आडवाणी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और भाजपा सांसद मेनका गांधी ने भी एम्स जाकर जेटली की सेहत की जानकारी ली थी। सूत्रों के मुताबिक जेटली को जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है और डॉक्टरों की टीम उनकी लगातार निगरानी कर रही है।

    23:51 (IST)20 Aug 2019
    बागी बीजेपी सांसद ने वित्त मंत्री को बताया था अरुण ‘जेबलूटली’

    दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) में तत्कालीन अध्यक्ष अरुण जेटली पर दरभंगा से भाजपा सांसद कीर्ति आजाद ने गंभीर आरोप लगाए थे। हालांकि इसके बाद उन्हें भाजपा से निलंबित भी कर दिया गया था। अब कीर्ति आजाद कांग्रेस का हाथ थामकर दरभंगा सीट से लड़ने की तैयारी में हैं। उन्होंने इस संबंध में अब बयान देना भी शुरू कर दिया है।

    22:39 (IST)20 Aug 2019
    जिस लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं जेटली जानिए उसके बारे में

    बता दें कि जिस लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर इस वक्त पूर्व वित्त मंत्री हैं वह उन्हें सांस लेने में मदद करता है, ताकि शरीर में ऑक्सीजन जाती रहे और कार्बन डाई ऑक्साइड बाहर निकलती रहे।  इस पर किसी भी मरीज को तब रखा जाता है जब वह खुद से सांस लेना बंद कर देता है, जिसे किडनी से संबंधित दिक्कतें हों और जिसके दिल की धड़कनें अनियमित हो जाती हैं। 

    21:32 (IST)20 Aug 2019
    बंगाल के राज्यपाल भी तबीयत का हाल जानने पहुंचे अस्पताल

    पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकर उनका हाल जानने मंगलवार को एम्स पहुंचे। उनके साथ उस दौरान पत्नी सुदेश धनकर और दो बच्चे भी थे। समाचार एजेंसी पीटीआई ने इस बारे में राज भवन के एक अधिकारी के हवाले से कहा- धनकर ने जेटली जी की तबीयत का हाल जाना और उनके जल्द से जल्द दुरुस्त होने की कामना की।

    19:34 (IST)20 Aug 2019
    'मैंने जेटली को भगोड़े माल्या से बात करते देखा'

    भारतीय बैंकों से 9000 करोड़ रुपये से अधिक का लोन लेकर विदेश भागे कारोबारी विजय माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिले थे। माल्या के इस बयान ने देश की राजनीतिक सरगर्मी बढ़ा दी है। इस मुद्दे पर कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल अरुण जेटली पर हमलावर हो गए हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जहां जेटली के इस्तीफे की मांग की है। वहीं, पीएल पुनिया ने कहा कि विजय माल्या के भागने...पढ़ें पूरी खबर।

    17:35 (IST)20 Aug 2019
    जेटली बोले थे- 'PM ने कभी राजनीति में जाति नहीं घुसाई', पर...

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जाति को लेकर पिछले कुछ दिनों से सियासी घमासान जारी है। इस बीच केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली भी इसमें कूद पड़े हैं। सोमवार को जेटली ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कभी भी जाति की राजनीति नहीं की। उन्होंने वोट पाने के लिए जाति को नहीं घुसाया बल्कि वो हमेशा...पढ़ें पूरी खबर।

    16:01 (IST)20 Aug 2019
    'फ्लॉप FM हैं जेटली', बोली थीं प्रियंका

    कांग्रेस नेत्री और प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर वित्तमंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जेटली ने देश की अर्थव्यवस्था का बंटाधार किया है। इसके अलावा प्रियंका ने वित्तमंत्री के ब्लॉग लिखने पर भी...पढ़ें पूरी खबर।

    15:09 (IST)20 Aug 2019
    साल 1999 में बनाए गए भाजपा प्रवक्ता

    अरुण जेटली साल 1998 में यूनाइटेड नेशन्स जनरल असेंबली में शामिल होने गए दल में भी शामिल रहे। भाजपा ने साल 1999 में उन्हें पार्टी प्रवक्ता की जिम्मेदारी दी। केन्द्र में भाजपा की सरकार बनने पर जेटली को अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में राज्यमंत्री और कानून, न्याय और कंपनी अफेयर्स का मंत्री बनाया गया।

    14:22 (IST)20 Aug 2019
    साल 1980 में भाजपा में हुए शामिल, 1991 में राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल हुए

    अरुण जेटली साल 1980 में भाजपा में शामिल हुए। इसके बाद उन्हें भाजपा युवा मोर्चा का अध्यक्ष और दिल्ली प्रदेश ईकाई का सचिव बनाया गया। अरुण जेटली साल 1991 में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने।

    13:58 (IST)20 Aug 2019
    अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से रहा है जेटली का जुड़ाव

    अपने विद्यार्थी जीवन में अरुण जेटली का जुड़ाव अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से रहा और दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ के वह साल 1974 में अध्यक्ष भी चुने गए थे।

    13:00 (IST)20 Aug 2019
    आपातकाल के दौरान जा चुके हैं जेल

    देश में आपातकाल के दौरान अरुण जेटली ने भी इसका पुरजोर विरोध किया था। जिसके चलते उन्हें जेल भी जाना पड़ा था। जेटली को इस दौरान अंबाला की जेल में रखा गया था और उसके बाद वह दिल्ली की तिहाड़ जेल में भी रहे। आपातकाल के दौरान जेटली लोकतांत्रिक युवा मोर्चा के संयोजक थे।

    12:20 (IST)20 Aug 2019
    अरुण जेटली के कार्यकाल में ही लाया गया Insolvency and Bankrutcy Code

    मोदी सरकार में अहम पद पर रहते हुए अरुण जेटली ने कई बड़े फैसलों में अपना योगदान दिया। इनमें रेलवे बजट को आम बजट के साथ ही पेश करने का फैसला हो या फिर Insolvency and Bankruptcy Code को लागू कराने का। IBC इन दिनों कॉरपोरेट सेक्टर में अहम रोल निभा रहा है।

    12:02 (IST)20 Aug 2019
    साल 2014 से लेकर अप्रैल 2018 तक राज्यसभा में विपक्ष के नेता

    अरुण जेटली साल 2014 से लेकर अप्रैल 2018 तक राज्यसभा में विपक्ष के नेता रहे।

    11:05 (IST)20 Aug 2019
    साल 2014 में वजन कम कराने के लिए करायी थी सर्जरी

    अरुण जेटली का वजन डायबिटीज के चलते बढ़ गया था। जिसे कम कराने के लिए साल 2014 में उन्होंने बैरिएट्रिक सर्जरी करायी थी। इसके बाद बीते साल अरुण जेटली ने गुर्दा प्रत्यारोपण भी कराया था। 

    09:58 (IST)20 Aug 2019
    अरुण जेटली के कार्यकाल में ही हुए नोटबंदी और जीएसटी जैसे बड़े फैसले

    अरुण जेटली के केन्द्रीय वित्त मंत्री रहते हुए ही सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी जैसे अहम और बड़े फैसले लिए थे।

    09:38 (IST)20 Aug 2019
    वित्त मंत्रालय के अलावा इन महत्वपूर्ण मंत्रालयों का संभाल चुके हैं कार्यभार

    मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में वित्त मंत्री बनाए जाने से पहले अरुण जेटली रक्षा मंत्रालय, मिनिस्टर ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और कानून और न्याय मंत्रालय का पदभार भी संभाल चुके हैं।

    09:13 (IST)20 Aug 2019
    मुख्तार अब्बास नकवी, मेनका गांधी समेत कई नेता एम्स पहुंचे

    इनके साथ ही केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और थावरचंद गहलोत, रविशंकर प्रसाद और संतोष गंगवार, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह एवं पार्टी सांसद मेनका गांधी ने भी एम्स पहुंचकर जेटली की सेहत की जानकारी ली।

    08:51 (IST)20 Aug 2019
    बीते साल मई में हुआ था गुर्दे का प्रत्यारोपण

    पिछले साल 14 मई को एम्स में उनके गुर्दे का प्रतिरोपण हुआ था। उस समय रेल मंत्री पीयूष गोयल को उनके स्थान पर वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गयी थी। पिछले साल अप्रैल की शुरुआत से ही वह कार्यालय नहीं आ रहे थे । इसके बाद वह 23 अगस्त 2018 को वित्त मंत्रालय आए थे।

    08:34 (IST)20 Aug 2019
    खराब स्वास्थ्य के चलते नहीं लड़ा था 2019 का लोकसभा चुनाव

    पेशे से वकील जेटली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में उनकी कैबिनेट का महत्वपूर्ण हिस्सा थे। उनके पास वित्त और रक्षा मंत्रालय का प्रभार था और सरकार के लिए वह संकटमोचक की भूमिका में रहे। खराब स्वास्थ्य के कारण जेटली ने 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा।

    08:01 (IST)20 Aug 2019
    मोहन भागवत, राजनाथ सिंह ने किया था दौरा

    हाल के दिनों में कई प्रमुख नेता पूर्व वित्त मंत्री का हाल जानने के लिये एम्स पहुंचे जिनमें केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, जितेंद्र सिंह और रामविलास पासवान, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी एवं ज्योतिरादित्य सिंधिया तथा बसपा प्रमुख मायावती, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत के नाम शामिल हैं।

    07:27 (IST)20 Aug 2019
    अस्पताल ने नहीं जारी किया कोई मेडिकल बुलेटिन

    एम्स ने उनके स्वास्थ्य के बारे में 10 अगस्त से कोई मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं किया है। उनके स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए हाल के दिनों में कई बड़े नेताओं ने अस्पताल का दौरा किया। जेटली की कुशलक्षेम जानने के लिए सोमवार को एम्स पहुंचे आडवाणी के साथ उनकी पुत्री प्रतिभा आडवाणी भी थीं।

    07:25 (IST)20 Aug 2019
    9 अगस्त को एम्स में भर्ती हुए थे

    66 वर्षीय जेटली को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है। उन्हें सांस लेने में परेशानी और बेचैनी महसूस होने के बाद नौ अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था। सूत्रों ने बताया कि जेटली को एक्स्ट्राकॉर्पोरियल मेंब्रेन ऑक्सिजेनेशन (ईसीएमओ) पर रखा गया है। डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी निगरानी कर रही है।

    Next Stories
    1 जनसंख्या पर चिंताः चुनौतियों का मंथन कितना है जरूरी
    2 जम्मू-कश्मीर में इन मुद्दों को लेकर NSA अजीत डोभाल की अमित शाह के साथ बैठक
    3 हम लाए हैं तूफान से कश्ती निकाल के, उफनती नदी में फंसे मछुआरों को ऐसे बचा लाई वायुसेना
    ये पढ़ा क्या?
    X