ताज़ा खबर
 

‘नए कश्मीर में नया स्वर्ग बनाएंगे, हर कश्मीरी को गले लगाएंगे’, 2000 किमी दूर से PM नरेंद्र मोदी का संदेश

मोदी ने कहा, ‘‘हमने वादा किया था कि हम जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में दिक्कतें खत्म करने के लिए नयी कोशिशें करेंगे। आज मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि देश ने उन सपनों को साकार करने की ओर कदम बढ़ाना शुरू कर दिया है।’’

Author नई दिल्ली | Updated: September 19, 2019 6:44 PM
नासिक में गुरुवार को जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फोटोः पीटीआई)

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (19 सितंबर, 2019) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत कर दी। नासिक में इस जन सभा के दौरान उन्होंने जम्मू और कश्मीर का मुद्दा भी छेड़ा। पीएम मोदी ने लगभग 2000 किलोमीटर की दूरी से कश्मीरियों को संदेश दिया कि वह और उनकी सरकार नए कश्मीर में नया स्वर्ग बनाएंगे और हर कश्मीरी को गले लगाएंगे।

बता दें कि जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान खत्म होने के बाद पीएम मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार कश्मीर की तस्वीर धीरे-धीरे बदलने की बात पर बल दे रही है। चूंकि, घाटी की तुलना उसकी प्राकृतिक सुंदरता, खूबसूरत वादियों और डल झील के कारण स्वर्ग से भी की जाती है। ऐसे में पीएम का यह बयान कई मायनों में अहम माना जा रहा है।

पीएम ने इस भाषण में दशकों से कश्मीरियों की दुर्दशा के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हिंसा भड़काने के लिए सीमा पार से बहुत कोशिश की जा रही है। बकौल मोदी, “हमें फिर से (कश्मीर में) नया स्वर्ग बनाना है….हर कश्मीरी को गले लगाएं।’’

वह आगे बोले- यह फैसला जम्मू कश्मीर के लोगों की आकांक्षाओं और सपनों को पूरा करने का जरिया बनने जा रहा है। जम्मू कश्मीर में अशांति, अविश्वास और हिंसा भड़काने के लिए सीमा पार से काफी कोशिशें की जा रही हैं। कश्मीर में युवाओं, माताओं और बहनों ने हिंसा के लंबे दौर से बाहर निकलने का मन बना लिया है। वे विकास और नौकरी के नये अवसर चाहते हैं।

मोदी ने कहा, ‘‘हमने वादा किया था कि हम जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में दिक्कतें खत्म करने के लिए नयी कोशिशें करेंगे। आज मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि देश ने उन सपनों को साकार करने की ओर कदम बढ़ाना शुरू कर दिया है।’’ उन्होंने कहा कि कश्मीर में पूरी तरह से संविधान लागू करना केवल सरकार का फैसला नहीं है, बल्कि यह 130 करोड़ भारतीयों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पश्चिम बंगाल: जाधवपुर यूनिवर्सिटी में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो से धक्का-मुक्की, छात्रों ने किया हंगामा
2 उद्धव ठाकरे को यूथ कांग्रेस का जवाब- 14 मिनट नहीं, जिंदगी के पूरे 3259 दिन नेहरू जी ने काटे थे जेल में
3 केरल हाईकोर्ट का ऐतिहासिक फैसला: इंटरनेट का इस्तेमाल करना ‘मौलिक अधिकार’, जानें- पूरा मामला