ताज़ा खबर
 

PNB Fraud: कभी भी गिरफ्तार हो सकता है नीरव मोदी, ब्रिटेन की अदालत ने जारी किया अरेस्ट वारंट

PNB Fraud: भारत के भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ शिकंजा कस गया है। ब्रिटेन की एक कोर्ट ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

पीएनबी घोटाले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

PNB Fraud: पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में मुख्या आरोपी और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ ब्रिटेन स्थित वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। अब किसी भी वक्त नीरव मोदी गिरफ्तार किया जा सकता है। इस वारंट के बाद नीरव को ब्रिटेन स्थित उसके आवास से गिरफ्तार किया जाएगा। यह एक प्रक्रिया है जिसका पालन सामान्यत: प्रत्यर्पण से पहले किया जाता है। यूं कहें तो जल्द ही नीरव मोदी को भारत वापस लाया जा सकता है। एक अधिकारी के अनुसार, नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के संबंध में ईडी के अनुरोध पर उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। बता दें कि कुछ ही समय पहले नीरव मोदी ब्रिटेन की सड़कों पर महंगी जैकेट पहन घूमता नजर आया था।

अधिकारियों ने बताया कि धनशोधन के एक मामले में नीरव को प्रर्त्यिपत करने के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध के जवाब में उसके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी को हाल में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत द्वारा वॉरंट जारी किए जाने के बारे में सूचित किया गया था और नीरव मोदी को जल्द ही स्थानीय पुलिस (लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस) द्वारा गिरफ्तार किया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि वॉरंट कुछ दिन पहले जारी किया गया और बाद में ईडी को सूचित किया गया था।
अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद नीरव मोदी जमानत के लिए अदालत के समक्ष लाया जाएगा और उसके प्रत्यर्पण के लिए कानूनी कार्यवाही उसके बाद शुरू होगी।

लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने नीरव के खिलाफ एक प्रत्यर्पण वॉरंट जारी किया है, जिससे उसकी गिरफ्तारी लगभग तय है। मामले में शामिल लंदन स्थित सूत्रों ने यह जानकारी दी।
ब्रिटेन की अदालत और स्कॉटलैंड यार्ड ने कहा कि वे वॉरंट की पुष्टि या उससे इनकार तब तक नहीं कर सकते जब तक गिरफ्तारी हो न जाए और आरोपी को औपचारिक तौर पर आरोपित नहीं कर दिया जाए। हालांकि, ताजा घटनाक्रम से वाकिफ अधिकारियों ने पुष्टि की कि पिछले हफ्ते एक वॉरंट जारी किया गया और भारत में अधिकारियों को सोमवार को इस बारे में बताया गया।

मेट्रोपॉलिटन पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘‘हम गिरफ्तारी होने तक कोई टिप्पणी इसलिए नहीं करते क्योंकि कुछ भी स्थापित होने से पहले व्यक्ति को आरोपित किया जाना होता है।’’ वॉरंट जारी होने की खबरों के बाद अब नीरव के पास विकल्प है कि या तो वह किसी पुलिस थाने में सरेंडर कर दे या फिर वॉरंट को तामील कराने के लिए जिम्मेदार मेट्रोपॉलिटन पुलिस के अधिकारी उसे गिरफ्तार करेंगे।

अगर नीरव को गिरफ्तार किया जाता है तो उसे लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया जाएगा और औपचारिक तौर पर उसे आरोपित किया जाएगा। इसके बाद वह जमानत की गुहार लगा सकता है। ब्रिटेन के एक अखबार में हाल में प्रकाशित एक खबर के अनुसार नीरव मोदी लंदन के वेस्ट एंड में 80 लाख पाउंड के आलीशान घर में रह रहा है और नए हीरा कारोबार में लगा है। अखबार की ओर से जारी एक वीडियो में नीरव को लंदन की सड़कों पर घूमते हुए दिखाया गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भारतीय एजेंसियों ने इंटरपोल और ब्रिटेन के ऑथरिटी से संपर्क कर भगोड़े हीरा कारोबारी के खिलाफ जारी रेड कॉर्नर नोटिस पर तत्काल कार्रवाई करते हुए गिरफ्तारी की मांग की थी। भारतीय एजेंसियां पिछले साल जुलाई तथा अगस्त महीने से ही नीरव मोदी को भारत लाने के लिए प्रत्यर्पण में जुट गई थी। (भाषा इनपुट के साथ)

 

Next Stories
1 खट्टर सरकार पर बरसा हाई कोर्ट, कहा- आईएएस खेमका की ‘ईमानदारी संदेह से परे’
2 जेल जाने से बचने के लिए आरकॉम के मालिक अनिल अंबानी ने चुकाए 462 करोड़ रुपए
3 जैश सरगना मसूद अजहर ने दुनिया भर में फैलाए थे हाथ, इन मुस्लिम देशों ने नहीं दिया साथ
ये पढ़ा क्या?
X