ताज़ा खबर
 

‘साडा हक, ऐत्थे रख’…टेबल पीट किसान नेता से कहने लगे अर्णब, पैनलिस्ट का जवाब- हक सरकार को देना है, लोगों को नहीं..

अर्नब गोस्वामी डिबेट शो में किसान नेता महिंदर सिंह ग्रेवाल से कहने लगे कि आज भारत की जनता आपसे बोल रही है कि हमारा भी हक़ है कि हम शांति से जिएं। हम कहते हैं कि साडा हक़ ऐत्थे रख।

FARMERS PROTEST, FARMERSकृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। फोटो सोर्स – PTI

केंद्र सरकार के कृषि क़ानूनों के खिलाफ राजधानी दिल्ली से सटे सीमाओं पर किसानों का आन्दोलन पिछले 46 दिन से जारी है। आज रविवार को कृषि क़ानूनों से जुड़े मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। हालाँकि सरकार और किसान संगठनों के बीच अगली बैठक की तारीख 15 जनवरी रखी गयी है।  किसान सरकार द्वारा पास किये गए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। रिपब्लिक भारत चैनल के डिबेट शो में इसी मुद्दे पर अर्नब गोस्वामी पैनल में मौजूद किसान से कहने लगे “साडा हक़ ऐत्थे रख”।

अर्नब गोस्वामी डिबेट शो में किसान नेता महिंदर सिंह ग्रेवाल से कहने लगे कि आज भारत की जनता आपसे बोल रही है कि हमारा भी हक़ है कि हम शांति से जिएं। हम कहते हैं कि साडा हक़ ऐत्थे रख। इसके बाद अर्नब कहने लगे कि आप कहते हैं कि बातचीत से जितना मिलना चाहिए था उतना नहीं मिला। आप यह भी कहते हैं कि आपकी सारी मांगे मानी जानी चाहिए. अगर आप भी अपना हक़ मांगेंगे तो मुझे भी अपना हक़ चाहिए। हमारे परिवार को भी शांति चाहिए। उसके बाद अर्नब चीख चीख कर बार बार कहने लगे साडा हक़ ऐत्थे रख।

अर्नब की बात का जवाब देते हुए महिंदर सिंह ग्रेवाल ने कहा कि मुझे हैरानी हो रही है कि आप कह रहे हैं कि मेरा हक़ ऐत्थे रख। आप इस बात को समझिए कि हक़ देने का काम सरकार का होता है ना कि लोगों का। इसके बाद महिंदर सिंह ग्रेवाल ने आगे कहा कि अर्नब आप बताइए कि इस आन्दोलन में कोई हिंसा हुई है। इतने दिन से किसान आंदोलन कर रहे हैं इसके बावजूद भी आप बताएं कि किसी को भी चोट पहुंचाई गयी हो। ना तो इस आंदोलन में कोई रेलवे ट्रैक उखाड़ा गया और ना ही कोई तोड़फोड़ हुई है। इसके बावजूद भी आप बार बार किसानों के बारे में ऐसी बातें करते हैं। ग्रेवाल ने आगे अर्नब गोस्वामी से कहा कि आप सरकार से जाकर कहिए कि किसानों की मांगे मानें ताकि जल्दी जल्दी से आंदोलन खत्म हो सके।

ग्रेवाल के इतना कहने के बाद पैनल में ही मौजूद बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी किसान बिल के फायदे गिनाने लगे। सुधांशु आगे कहने लगे कि इस बिल से ढेरों किसान खुश हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने इस बिल को लेकर किसानों से बात भी की और किसान काफी खुश भी नजर आये।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कर्नाटक: एमएसपी से ज़्यादा दाम पर किसानों से रिलायंस रिटेल लिमिटेड ने की हज़ार क्विंटल चावल की डील
2 2024 में आते ही तीनों कृषि बिल वापस लेंगे, डिबेट में बोले गौरव वल्लभ तो हंसने लगे पैनलिस्ट
3 बिहार: बिजनेसमैन भी हैं JDU के नए प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, महनार सीट गंवाने वाले को प्रदेश की कमान सौंप लव-कुश समीकरण को साधने की कोशिश
ये पढ़ा क्या?
X