ताज़ा खबर
 

खराब नाइट विजन ग्लासिस की वजह से रात के समय बढ़ जाती हैं कश्मीर, LoC पर तैनात जवानों की मुश्किलें: आर्मी रिपोर्ट

जम्मू-कश्मीर और एलओसी पर तैनात भारतीय सेना के जवानों की स्थिति को लेकर एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है।

Author Updated: March 28, 2017 7:38 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। PTI Photo

जम्मू-कश्मीर और एलओसी पर तैनात भारतीय सेना के जवान हमेशा ही अपनी जान की बाजी लगाकर देश की रक्षा करते हैं। वहीं इन तैनात जवानों की स्थिति को लेकर एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। कश्मीर में अमूमन जवानों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ की कई वारदात होती हैं। वहीं रात के समय हो रही किसी मुठभेड़ के दौरान जवानों को नाइट विजन गोगल्स की खास जरूरत होती है, लेकिन सेना की नई रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि जवानों के पास जो थर्मल इमेजर्स हैं वह खस्ता हालत में हैं। रिपोर्ट के मुताबिक थर्मल इमेजर्स (HHTI) की खराब बैट्री लाइफ की वजह से सेना के जवानों को रात में किसी ऑपरेशन के समय काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है जो सीधे उनकी जिंदगी को खतरे में डालता है।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जिन थर्मल इमेजर्स की बैट्री तीन से चार घंटे तक चलनी चाहिए, वह मुश्किल से 20 मिनट तक ही चल पाती हैं। ज्यादा इस्तेमाल की वजह से बैट्रियों की लाइफ खत्म हो रही हैं। रिपोर्ट तैयार करने वाले ADB के प्रमुख ल्यूटेनेंट जनरल सुब्रता साहा ने कहा- “एलओसी पर ज्यादातर छुसपैठ की कोशिशें रात में की जाती हैं, ऐसे में HHTI की कम लाइफ ऑपरेशन्स को खतरे में डाल देते हैं।” वहीं रिपोर्ट में 28 और कमियों को उजागर किया गया है जिन्हें जल्द सुलझाने की बात कही गई है।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि जवानों को HHTI बैट्रियां साथ लेकर चलना पड़ता है जिससे उनके सामान का वजन बढ़ जाता है। बता दें कि आर्मी की इससे पहले भी आई एक रिपोर्ट में लगभग 50 और कमियां बताई गई थीं। वहीं नई रिपोर्ट में टैंक्स के लिए 360 डिग्री के पैरानॉर्मिक व्यू डिवाइस भी उपलब्ध कराने की बात कही गई है। इसके अलावा बीते जनवरी महीने में हिंदुस्तान टाइम्स ने आर्मी सूत्रों के हवाले से कहा था कि जवानों को दिए जाने वाले मेडल्स असली नहीं होते। खबर के मुताबिक पिछले 7-8 साल में रक्षा मंत्रालय के मेडल विभाग ने अन्य किस्म के मेडल जारी नहीं किए। खबर के मुताबिक सेना जवानों को दिए जाने वाले मेडल्स की कमी से जूझ रही है।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने की मोदी की तारीफ, राहुल गांधी से कहा- दिल्ली में बैठने वाला नहीं कर सकता काम
2 कांग्रेस के मुस्लिम नेता का विवादित बयान- मासिक धर्म में अपवित्र हो जाती हैं महिलाएं, किसी भी पूजाघर में ना जाएं
3 नरेंद्र मोदी का पसंदीदा शब्‍द नहीं है ‘मितरों’, उससे ज्‍यादा इन 5 शब्‍दों का इस्‍तेमाल करते हैं पीएम