ताज़ा खबर
 

सब्जी विक्रेता के जरिए आर्मी अफसर पाकिस्तान को भेज रहा था खुफिया दस्तावेज, हुई धरपकड़

दिल्ली पुलिस ने पाकिस्तान को सेना के खुफिया दस्तावेज भेजने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक सेना के आगरा कैंट स्थित मुख्यालय में तैनात है जबकि दूसरा राजस्थान के पोखरण इलाके में सब्जी विक्रेता का काम करता है।

सांकेतिक फोटो।

दिल्ली पुलिस ने पाकिस्तान को सेना के खुफिया दस्तावेज भेजने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक सेना के आगरा कैंट स्थित मुख्यालय में तैनात है जबकि दूसरा राजस्थान के पोखरण इलाके में सब्जी विक्रेता का काम करता है। पुलिस का कहना है कि मामले की विवेचना की जा रही है।

मामले का खुलासा तब हुआ जब पोखरण आर्मी कैंप के पास एक सब्जी विक्रेता को धरा गया। आरोप था कि वो सेना के संवेदनशील दस्तावेज लेकर आईएसआई (पाक खुफिया एजेंसी) के भेज रहा था। उसकी पहचान 43 साल के हबीब खान के तौर पर हुई। पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सेना के एक क्लर्क का नाम लिया। जिससे उसे दस्तावेज मिलते थे। हबीब खान को मंगलवार को पोखरण से पकड़ा गया था। उसके पास से कुछ बेहद संवेदनशील दस्तावेज भी पुलिस ने बरामद किए।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर प्रवीर रंजन ने बताया कि ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत हबीब के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उनका कहना है कि जांच में पता चला कि सेना के क्लर्क परमजीत का सारे मामले से गहरा जुड़ाव है। वो पहले पोखरण में तैनात था। जहां उसका हबीब से संपर्क हुआ।

हबीब के रिश्तेदार पाकिस्तान में रहते हैं। वो उनके संपर्क में है। उनके जरिए ही खुफिया दस्तेवाज पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को पहुंचाए जा रहे थे। दोनों ये काम पैसे के लालच में कर रहे थे। पुलिस का कहना है कि जांच में देखा जा रहा है कि कौन कौन से दस्तावेज भारत से बाहर भेजे गए और इनका सौदा कितने पैसे में हुआ। पैसे के लेनदेन के तरीके को भी जांच के दायरे में रखा गया है।

गौरतलब है कि पाक के लिए जासूसी करने के कई मामले सामने आ चुके हैं। महाराष्ट्र एटीएस ने बीते साल नासिक स्थित हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड कंपनी के एक कर्मचारी को अरेस्ट किया था। कर्मचारी पर आरोप है कि वो भारतीय लड़ाकू विमानों और कंपनी की गुप्त जानकारी पाकिस्तानी जासूसी एजेंसी आई एस आई को देता था। आरोपी का नाम दीपक है। ये व्यक्ति आईएसआई के लगातार संपर्क में था।

Next Stories
1 अपने आर्डर को इंप्लीमेंट होने में लगे 4 दिन तो बिफरा SC,अब खुद देखेगा कि बेल मिलने पर भी क्यों नहीं छूटते कैदी
2 अब भारत में ड्रोन इस्तेमाल करना होगा आसान, सिविल एविएशन मिनिस्‍ट्री ने जारी किया नए कानून का ड्राफ्ट
3 जब अंजना ओम कश्यप से भिड़ गए थे साक्षी महाराज, बोले- मैं चार में से तीन भाई गैरशादीशुदा, मुझे मिलना चाहिए इनाम
ये पढ़ा क्या?
X