ताज़ा खबर
 

चीन पर आर्मी चीफ ने माना, दोनों तरफ से है विश्वास की कमी, कहा- देपसांग के लिए तैयार है प्लान

आर्मी चीफ ने माना है कि चीन और भारत, दोनों की तरफ से विश्वास में कमी है और इसलिए सीमा विवाद का हल निकलने में समय लगेगा। उन्होंने यह भी कहा कि भारत ने बहुत कुछ हासिल किया है।

indian securityसेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे। (फोटो-एएनआई)

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का कहना है कि पैंगोंग को लेकर बनी सहमति दोनों ही देशों के लिए फायदेमंद है और दोनों को यह मानना चाहिए कि उन्हें कुछ हासिल हुआ है। हालांकि उन्होंने कहा कि दोनों देशों में ही एक दूसरे पर विश्वास की कमी है और इसी वजह से कुछ जगहों पर विवाद का हल नहीं निकल पा रहा है। आर्मी चीफ ने यह भी कहा कि देपसांग समेत जो कुछ मामले अभी बाकी हैं उनपर रणनीति तैयार कर ली गई है।

आर्मी चीफ ने कहा, ‘दोनों ही तरफ से विश्वास की कमी है। फिर भी हमें अभी लंबा सफर तय करना है। अब हमें तनाव को कम करने की तरफ बढ़ना है। ऊंचाई से फौज के लौटने के बाद भी हमें सावधान रहना है। जब तक दोनों तरफ से अविश्वास की खाईं कम नहीं हो जाती, हमें चीन की हर हरकत पर नजर रखनी होगी। इन सबके बावजूद हमें लगता है कि कुल मिलाकर हमें बहुत कुछ हासिल हुआ है।’ जनरल एमएम नरवणे विवेकानंद इंटरनैशनल फाउंडेशन के एक वेबिनार में सवालों के जवाब दे रहे थे।

‘धीरे-धीरे कब्जा करना चाहता है चीन’

आर्मी चीफ ने कहा कि चीन धीरे-धीरे शक्ति बढ़ाने और कब्जा करने की रणनीति पर यकीन करता है और यही काम वह साउथ चाइना सी में कर रहा है लेकिन भारत के साथ वह कामयाब नहीं होगा। उन्होंने कहा, ‘चीन चुपचाप बदलाव करने की कोशिश करता है लेकिन भारत उसके हर प्रयास का जवाब दे रहा है। वह चाहता है कि गोली भी न चलानी पड़े और उसका काम भी बन जाए लेकिन भारत के साथ वह ऐसा नहीं कर सकता। हम उसकी हर छोटी हरकत का जवाब देते हैं।’

आर्मी चीफ से पूछा गया कि क्या जिन जगहों को भारत ने खाली किया है वहां चीन कब्जा कर सकता है? उन्होंने जवाब दिया, ‘जब कोई भी सहमति बनती है तो हम उसकी प्रतिबद्धता पर ध्यान रखते हैं। हम विश्वास करेंगे लेकिन एक बार वेरिफाइ भी करना होगा। हम लगातार नजर रखते हैं कि उन जगहों पर पीएलए कब्जा तो नहीं कर रहा है।’ उन्होंने कहा कि चीन के साथ पैंगोंग पर सहमति बनी क्योंकि सरकार की तरफ से बहुत नम्रता से डिप्लोमैटिक और सैन्य स्तर पर बातचीत की गई।

पाकिस्तान पर भी बोले आर्मी चीफ

पाकिस्तान के साथ मिलकर दो तरफ से भारत को घेरने की तैयारी पर आर्मी चीफ ने कहा कि इस तरह की कोई भी गतिविधि नहीं हुई है। वे पहले जो भी कर रहे थे आज भी वही कर रहे हैं। किसी तरह की अतिरिक्त गतिविधि नजर नहीं आई है। उन्होंने कहा, अगर कोई बुरी परिस्थिति बनती भी है तो सेना उससे निपटने के लिए तैयार है।

Next Stories
1 हिंदू, मुस्लिम जिहादी को मारेगा तो हम उसके साथ, ताली बजा रहे थे कपिल मिश्रा; एंकर ने पूछा तो मुकर गए
2 बंगाल: नॉर्थ 24 परगना में रोकी BJP की परिवर्तन रैली, कैलाश विजयवर्गीय बोले- लाठीचार्ज किया गया
3 अमित शाह को जमानत दिलवाने वाले जज-वकील आज ऊंचे-ऊंचे पदों पर बैठे हुए हैं- कांग्रेस प्रवक्ता का आरोप
ये पढ़ा क्या?
X