ताज़ा खबर
 

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को टॉप सीक्रेट लोकेशन पर ले गए सेना प्रमुख, दिखाया न्यूक्लियर बम का ‘बटन’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाक़ान अब्बासी ने भारत को लक्ष्य कर धमकी भरे अंदाज में कहा था कि उनके देश ने शॉर्ट रेंज वाले परमाणु हथियार विकसित कर लिये हैं।
केन्द्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और आर्मी चीफ बिपिन रावत शनिवार (24 सितंबर) को पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में पहुंचे। साथ में मौजूद हैं आर्मी के सीनियर ऑफिसर (फोटो-पीआईबी)

एक अहम घटनाक्रम के तहत भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को वो लोकेशन दिखाई गई है, जहां पर कथित रूप से भारत का न्यूक्लियर बटन रखा हुआ है। आर्मी चीफ बिपिन रावत निर्मला सीतारमण को एक टॉप सीक्रेट लोकेशन पर ले गये हैं और उन्हें न्यूक्लियर बम का बटन दिखाया है। न्यूक्लियर बटन दबाने के बाद परमाणु हमले की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। इस लोकेशन के बारे में देश के जिन चुनिंदा लोगों को जानकारी है उनमें राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री शामिल हैं। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को पिछले कई दिनों से बॉर्डर के हालात की जानकारी दी जा रही है। निर्मला सीतारमण पिछले कुछ दिनों में 6 राज्यों में 7 फॉरवर्ड एरिया पहुंच चुकी हैं। रक्षा मंत्री तीनों सेना प्रमुखों से बॉर्डर सुरक्षा के बारे में भी जानकारी ले रही हैं। ऐसी बैठकों के दौरान किसी भी अनिष्ट से निपटने पर भी चर्चा हो रही है।

रेडिफ डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक निर्मला सीतारमण पीएम नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर इन रक्षा तैयारियों का जायजा ले रही हैं। निर्मला सीतारमण रक्षा मंत्री बनने के बाद काफी व्यस्त शेड्यूल में रह रही हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक वह हर दिन चार से पांच घंटे सेना प्रमुखों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ब्रीफिंग्स में बिताती हैं। जबकि आठ से दस घंटे रक्षा से जुड़े दस्तावेजों को समझने और उन पर निर्देश देने में खर्च करती हैं। निर्मला सीतारमण दशहरा से पहले चीन के बारे में पीएम को ब्रीफिंग्स देने वाली हैं।

बता दें कि पिछले ही हफ्ते पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाक़ान अब्बासी ने भारत को लक्ष्य कर धमकी भरे अंदाज में कहा था कि उनके देश ने शॉर्ट रेंज वाले परमाणु हथियार विकसित कर लिये हैं। अब्बासी अमेरिका में थिंक-टैंक काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। भारत की सुरक्षा के लिहाज से पाकिस्तानी पीएम के बयान का अहम अर्थ है। भारत के रणनीतिक और सामरिक क्षेत्र में अब्बासी इस बयान का अलग अलग अर्थ निकाला जा रहा है। भारत की रक्षा तैयारियों में प्रोफेशनल दक्षता अपनाने की रणनीति को पाकिस्तान की इन धमकियों से भी जोड़कर देखा जा रहा है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण इन पूरी तैयारियों का समग्र अवलोकन कर रही हैं। इसी हफ्ते रक्षा मंत्री का एक अहम एजेंडा दिल्ली में अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस से मुलाकात है। ट्रंप प्रशासन के किसी कैबिनेट रैंक के मंत्री का ये पहला भारत दौरा है। इस दौरान दोनों देशों के रक्षा, रक्षा सौदे, आतंकवाद के क्षेत्र में अहम समझौते की उम्मीद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.