ताज़ा खबर
 

नए आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा- पाकिस्तान पर आगे भी हो सकती है सर्जिकल स्ट्राइक

जनरल रावत ने देश की सेना के 27वें प्रमुख के रूप में शनिवार (31 दिसंबर, 2016) को पदभार संभाला था।

भारत ने 27वें आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत। (PTI Photo by Atul Yadav)

आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए की गई एक कार्रवाई थी। उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले वक्त में भी जरूरत पड़ने पर ऐसी कार्रवाई की जाती रहेंगी। बिपिन रावत ने यह बातें एनडीटीवी को दिए एक इंटरव्यू में कहीं। उन्होंने आगे कहा कि अगर बॉर्डर पार बैठे आतंकी लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर स्थिति बिगाड़ने की कोशिश करेंगे तो ऐसी कार्रवाई वक्त-वक्त पर होती रहेंगी। रावत ने कहा कि उन्हें (सेना) को आतंकियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई करने का पूरा हक है। बिपिन रावत ने सर्जिकल स्ट्राइक के सफल ऑपरेशन के लिए दलबीर सिंह सुहाग को श्रेय दिया।

जनरल रावत ने देश की सेना के 27वें प्रमुख के रूप में शनिवार (31 दिसंबर, 2016) को पदभार संभाला था। गौरतलब है कि पद भार संभालते ही सेना प्रमुख ने कहा था कि सेना की भूमिका सीमा पर शांति बनाए रखने की है लेकिन वह ‘‘जरूरत पड़ने पर अपनी ताकत का इस्तेमाल करने से नहीं’’ चूकेगी।

इससे पहले उनको आर्मी चीफ बनाने को लेकर काफी विवाद भी हुआ था। दरअसल, सरकार ने लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत को नया थलसेनाध्‍यक्ष चुना था। इसके लिए सीनियरिटी के आधार पर चीफ बनाने की प्रथा को 1983 के बाद पहली बार नजरअंदाज किया गया था। लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत को चीफ चुने जाने के लिए कमांड चीफ लेफटिनेंट प्रवीण बक्शी और दक्षिणी कमान के आर्मी चीफ लेफटिनेंट पीएम हारिज को नजरअंदाज किया गया था। इसपर विवाद हुआ था। लोगों ने इसे सांप्रदायिक रंग देकर यह भी कहा था कि मोदी किसी मुस्लिम को चीफ नहीं बनाना चाहते थे।

इस वक्त की बाकी ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें 

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App