ताज़ा खबर
 

हमारी सरकार में केवल मौलवियों को नहीं मिलेगा भत्ता, बोले सुधांशु त्रिवेदी, टीएमसी सांसद ने दिया जवाब

भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि हम सेक्युलरिज्म में विश्वास करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में सिर्फ मौलवियों को भत्ता नहीं मिलेगा।

sudhanshu trivedi, BJP, TMCभाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि हमारी सरकार में सिर्फ मौलवियों को भत्ता नहीं मिलेगा। (Express photo/ Prem Nath Pandey)

कल शनिवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रथम चरण के लिए वोट डाले जाएंगे। भाजपा इस बार के विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ तृणमूल को हटाने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रही है। भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमेशा से मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगाती रही है। इसी को लेकर एक टीवी डिबेट में भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि हमारी सरकार में सिर्फ मौलवियों को भत्ता नहीं मिलेगा। डिबेट में मौजूद रही टीएमसी सांसद ने सुधांशु त्रिवेदी के इन आरोपों पर जमकर पलटवार किया।

दरअसल इंडिया टीवी पर आयोजित कार्यक्रम में भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि हम सेक्युलरिज्म में विश्वास करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में सिर्फ मौलवियों को भत्ता नहीं मिलेगा। किसी को नहीं मिलेगा। अगर मिलेगा तो सबको मिलेगा, हिंदू पंडितों को मिलेगा, जैन साधुओं को मिलेगा, सिख ग्रंथियों को मिलेगा, ईसाइयों को भी मिलेगा। आगे सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि संसाधनों पर गरीब जनता का हक़ है ना कि कहते हैं कि मुसलमानों का हक़ है।

इसके जवाब में टीएमसी सांसद अपरूपा पोद्दार ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी तो कहते थे कि सबके अकाउंट में 15 लाख आएगा लेकिन नहीं आया। आगे अपरूपा ने कहा कि आज उज्जवला योजना तो आया लेकिन गैस का दाम सबको रूला रहा है। गैस का दाम देते देते घर की महिलाएं परेशान हो रही है. उनकी जेबें कट जा रही है।  हमलोग जमीनी स्तर पर रहते हैं इसलिए हमें गरीब लोगों की समस्याएं दिखती हैं लेकिन आप लोग तो करोड़ों के पार्टी ऑफिस में रहते हैं। आपके आईटी सेल पर तो करोड़ों पैसा खर्च होता है।

पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस की सरकार में राज्य के मुसलमानों को लेकर अनेकों योजनाएं चलाई गई. भाजपा इन्हीं मुद्दों को लेकर हमेशा से तृणमूल और ममता बनर्जी पर हमलावर रहती है। ममता बनर्जी की सरकार में इमामों को भत्ता, मदरसों में पढ़ने वाली लड़कियों को मुफ्त साइकिल, कई जिलों में उर्दू को दूसरी आधिकारिक भाषा का दर्जा देना जैसे कई काम किए गए।

आपको बता दूं कि इस बार पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान होगा। 294 सीटों के लिए वोटिंग 27 मार्च, 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल, 29 अप्रैल को होगी। वहीँ मतगणना 2 मई को की जाएगी। 

Next Stories
1 बंगालः मतदान से एक दिन पहले बांकुरा टीएमसी ऑफिस में विस्फोट, भाजपा बोली- बना रहे थे बम
2 मुख्तार अंसारी को लाने वाली गाड़ी यूपी पुलिस की? कुमार विश्वास ने पूछा, आचार्य प्रमोद बोले- पलटना तय
3 बांग्लादेश में पीएम मोदी ने इंदिरा गांधी की तारीफ की, कहा- मैंने भी किया था सत्याग्रह
ये पढ़ा क्या?
X