ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार उच्च शिक्षण संस्थानों की कराएगी स्वच्छता रैंकिंग, 28 अगस्त तक आवेदन

स्वच्छ भारत अभियान के तहत शहरों की रैंकिंग के बाद अब सरकार ने उच्च शिक्षण संस्थानों की ‘स्वच्छ कैम्पस’ रैंकिंग की पहल को गति दी है जिसमें चयनित 10 शीर्ष संस्थाओं को सम्मानित किया जायेगा।

Author August 21, 2018 4:14 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

स्वच्छ भारत अभियान के तहत शहरों की रैंकिंग के बाद अब सरकार ने उच्च शिक्षण संस्थानों की ‘स्वच्छ कैम्पस’ रैंकिंग की पहल को गति दी है जिसमें चयनित 10 शीर्ष संस्थाओं को सम्मानित किया जायेगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि उच्च शैक्षणिक संस्थाओं की स्वच्छ कैम्पस रैंकिंग में हिस्सा लेने के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 28 अगस्त है। उल्लेखनीय है कि पिछले साल मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने शिक्षण संस्थानों की रैंकिंग की पहल शुरू की थी। इसमें हिस्सा लेने वाले शैक्षणिक संस्थानों को पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर आवेदन करना होगा। अगस्त-सितंबर में विभिन्न टीमें इन संस्थानों का निरीक्षण करेंगी।

मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मापदंडों के आधार पर सितंबर के अंतिम सप्ताह में रैंकिंग जारी होगी। अक्टूबर 2018 में दिल्ली में विजेताओं को सम्मान प्रदान किया जायेगा।
स्वच्छ कैम्पस रैंकिंग में भाग लेने के कुछ मानदंड निर्धारित किये गए हैं जिसमें कैम्पस का आकलन, शौचालय की संख्या और साफ सफाई का स्तर, कचरा निस्तारण व्यवस्था, हॉस्टल के रसोई घर की स्वच्छता, पानी की स्वच्छता, जल संग्रहण और निकासी की व्यवस्था, कैम्पस में हरियाली, रेन वाटर हार्वेंस्गटिंग, सौर प्रणाली का उपयोग और गोद लिए गांवों की स्थिति जैसे मापदंड शामिल किए गए हैं।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Nokia 1 8GB Blue
    ₹ 4482 MRP ₹ 5999 -25%
    ₹538 Cashback

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष स्वच्छता रैंकिंग के मानदंडों में कुछ बदलाव कर इसमें साफ सफाई संबंधी कुछ अतिरिक्त आयाम जोड़े गए हैं। मंत्रालय ने उम्मीद जतायी है कि इस रैंकिंग में अधिक से अधिक संख्या में उच्च शिक्षण संस्थान हिस्सा लेंगे, साथ ही केंद्र पोषित अनुदान प्राप्त करने वाले शैक्षणिक संस्थान इस गतिविधि में जरूर हिस्सा लेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App